Breaking News

शहीद पति के लिए करवा चौथ का व्रत रखती हैं ये…

Image result for करवा चौथजागरण संवाददाता, जयपुर: करवा चौथ के व्रत के दिन जहां सुहागिन महिलाएं अपने पति की लंबी आयु की कामना करती हैं. वहीं, राजस्थान के शेखावाटी एरिया की सैकड़ों वीरांगनाएं ऐसी भी हैं जिनके पति राष्ट्र के लिए शहीद हो गए, लेकिन वे उनको जिंदा मानते हुए खुद को सुहागिन मानकर करवा चौथ का व्रत रखती हैं.

शेखावाटी एरिया के सीकर, झुंझुंनू  चुरू जिलों की ऐसी सैकड़ों वीरांगनाएं अन्य सुहागिनों की तरह मेहंदी लगाकर पूरा श्रृंगार करती हैं  फिर रात को चांद देखने के बाद ही व्रत खोलती हैं. चाहे सीकर के सिंगडौला के शहीद बनवारी लाल की वीरांगना संतोष देवी हो या फिर बागरियावास गांव के शहीद सुल्तान सिंह की पत्नी सजना देवी हो, या झुंझुंनू के मंडावा की वीरांगनाएं बरखा देवी, राजकुमारी हो, ऐसी वीरांगनाएं अपने पति के राष्ट्र के लिए कुर्बान होने के बाद आज भी अब भी अपने सीने में दर्द की कसक लिए पति की याद में करवा चौथ का व्रत रखती हैं.

इन वीरांगनाओं का कहना है कि कौन कहता है वे सुहागिन नहीं है, बहुत कम महिलाएं होती हैं, जिनको वीरांगना कहलाने का हक मिलता है. वे सौभाग्यशाली है कि उनके पति राष्ट्र के लिए कुर्बान होकर हमेशा के लिए अमर हो गए. वे चांद में अपने पति का अक्ष ढूंढती है  उसे याद कर व्रत खोलकर अमर पति को याद करती है.

यह भी पढ़ें:   देखें वीडियो : सामने आए चुनावी महासमर के ‘गोपाल’, बोले- जनता को बेवकूफ बनाउंगा, पैसा कमाऊंगा
loading...
Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *