Breaking News

यह क्रिकेटर के सामने विराट कोहली कुछ नही आज पेट भरने के लिए करते हैं इतना छोटा काम

Image result for शिखर धवन

मुम्बई: भारतीयों में क्रिकेट को लेकर काफी जुनून पाया जाता है| सिर्फ क्रिकेट खेल में कोई भेदभाव नहीं है और इसमें सभी धर्मीं को एक सम्मान समझा जाता है| इसलिए आज लगभग हर युवा जो क्रिकेट खेलता है एक दिन भारत के लिए खेलने का सपना देखता है| लेकिन, बहुत काम ऐसे खिलाड़ी होते हैं जिन्हें भारतीय टीम में लंबे समय तक खेलने का मौका मिलता है| पूरी मेहनत और अपना सब कुछ झोंक देने के बाद भी कुछ खिलाडियों को ऐसे दिन देखने पड़ते हैं जिनकी वो कल्पना भी नहीं कर सकते| आज हम आपको एक ऐसे की क्रिकेटर के बारे में बताने जा रहे है जो एक वक्त भारतीय टीम का हिस्सा था|

अंडर 19 भारतीय क्रिकेट टीम का था हिस्सा

साल 2008 की अंडर 19 भारतीय क्रिकेट टीम तो आपको याद ही होगी जिसने वर्ल्ड कप जितकर दुनिया भर में तहलका मचा दिया था| इसी वर्ल्ड कप से हमें विराट कोहली जैसा कप्तान और शिखर धवन जैसा स्टार बल्लेबाज मिला| लेकिन उसी टीम का एक खिलाड़ी आज छोले भठूरे और चाऊमीन बेचकर अपना गुजारा कर रहा है| हम बात कर रहे हैं पैरी गोयल 2008 में भारत की अंडर-19 टीम के विकेटकीपर थे| इसी टीम के एक अन्य खिलाड़ी अजितेश अरगल, जिन्होंने 2008 के अंडर 19 वर्ल्ड कप के फाइनल मैच में मात्र 7 रन देकर 2 विकेट लिया था और ‘मैन ऑफ द मैच’ रहे थे|

घरेलु क्रिकेट में खराब रहा प्रदर्शन

यह भी पढ़ें:   IPL-10 : वार्नर के पास ही रहेगी ऑरैंज कैप

अरगल मे इन प्रतिभा की कोई कमी नहीं थी| लेकिन उनसे बस एक गलती ये हो गई कि वो विश्वकप के बाद घरेलु क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सके| अंडर-19 में अजितेश अरगल ने शानदार प्रदर्शन किया, लेकिन बड़ौदा से घरेलू क्रिकेट खेलते हुए वो अच्छा नहीं खेल सके| जिसकी वजह से बड़ौदा टीम से वो 10 मैच के बाद ही बाहर कर दिये गए| आपको बता दें कि अजितेश वर्तमान में बड़ौदा आयकर विभाग में बतौर इंस्पेक्टर काम कर रहे है| वहीं उनके साथ खेलने वाले पैरी गोयल भारत की अंडर-19 टीम के विकेटकीपर थे|

अब चलाते हैं फास्ट फूड कार्नर

loading...

पैरी ने पंजाब के लिए भी घरेलू क्रिकेट खेला, लेकिन पंजाब के लिए बहुत निराशाजनक प्रदर्शन रहा, जिसकी वजह से उन्हें 2010 में टीम से बाहर कर दिया गया| अब पैरी गोयल लुधियाना नगर निगम के बाहर फास्ट फूड कार्नर चलाते हैं| पैरी अपने फास्ट फूड कार्नर में छोले भठूरे और चाऊमीन आदि बेचते हैं| गौरतलब है कि अजितेश अरगल को आयकर विभाग में नौकरी विश्वकप फाइनल में मैन ऑफ थे मैच रहने की वजह से मिली है| अगर वो मैन ऑफ थे मैच नहीं हुए होते तो वो भी शायद ऐसा ही कुछ कर रहे होते| भले ही इस खेल ने कुछ खिलाड़ियों को शोहरत के साथ दौलत दी, लेकिन कुछ खिलाड़ियों की जिंदगी भी इसे से बर्बाद भी हो गई|

यह भी पढ़ें:   राशिद ने रैना को भी आउट किया, गुजरात 70/4

0000

मुकेश अंबानी के घर का नहीं फेंका जाता कचरा, आता है इस काम जान हैरान रह जाएंगे आप

 

मुम्बई: अब चाहे अमीर का घर हो या किसी गरीब का घर में कचरा तो होता ही है| लेकिन क्या आपने सोचा है आप इस कचरे को अलग तरह से भी प्रयोग किया जा सकता है| नहीं ना, तो लेकिन मुकेश अंबानी की बात ही कुछ अलग है| मुकेश अंबानी कोई आम इंसान नहीं है बल्कि वो देश के बड़े और महान उद्योगपतियों में से है एक| उनका नाम और काम देश में ही नहीं बल्कि विदेश में भी चलता हैं| अब अंबानी साहिब घर के कचरे को फेंका नहीं जाता बल्कि एक अलग तरह से इस्तेमाल किया जाता है| पहले तो गीले कूड़े और सूखे कूड़े को अलग किया जाता है फिर उसके बाद इस कचरे से बिजली बनाई जाती है जिसको मुकेश अंबानी के घर की बिजली के खर्चे को कम करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है| बता दें कि अब मुकेश अम्बानी ने लगभग 17 करोड़ रुपये लगाकर महल जैसा घर बनाया जिसमें ऐ सी तक की जरुरत नहीं पड़ती, आप पुरे घर का तापमान खुद तय कर सकते हैं| घर में बड़े बड़े स्विमिंग पूल हैं, 500 से ज्यादा नौकर हैं और हर तरह की सुख सुविधा से भरा हुआ है|

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *