Breaking News

शरद यादव ने कहा की मुझे बोलने की सजा मिली, लोकतंत्र को बचाने के लिए मेरी लड़ाई जारी रहेगी

Image result for शरद यादवनई दिल्ली: वरिष्ठ समाजवादी नेता शरद यादव ने राज्यसभा की सदस्यता से अयोग्य ठहराये जाने के बाद बोला है कि उन्हें लोकतंत्र की खातिर बोलने की सजा मिली है यादव ने राज्यसभा के 4 दिसंबर के निर्णय पर अपनी रिएक्शन में मंगलवार(5 दिसंबर) को बोला कि उन्हें बिहार में बने महगठबंधन को तोड़ने संबंधी अपनी पार्टी के निर्णय की खिलाफत करने के कारण संसद की सदस्यता गंवानी पड़ी है उन्होंने ट्विटर हैंडल से लिखा है है, “मुझे राज्यसभा की सदस्यता से अयोग्य घोषित किया गया है बिहार में राजग को हराने के लिए बने महागठबंधन को 18 महीने में ही सत्ता में बने रहने के मकसद से राजग में शामिल होने के लिए तोड़ दिया गया अगर इस अलोकतांत्रिक तरीके के विरूद्ध बोलना मेरी भूल है तो लोकतंत्र को बचाने के लिए मेरी ये लड़ाई जारी रहेगी ”

राज्यसभा के सभापति ने जदयू से राज्यसभा सदस्य यादव  अली अनवर को सदन की सदस्यता से अयोग्य घोषित कर दिया था राज्यसभा में जदयू संसदीय दल के नेता आर सी पी सिंह ने पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के कारण यादव  अनवर की सदस्यता रद्द करने की सभापति से अनुशंसा की थी

यादव ने पार्टी विरोधी गतिविधि में शामिल होने के बारे में बोला ‘‘मुझे राज्यसभा के लिये अयोग्य घोषित किया गया है क्योंकि मैंने लोकतांत्रिक मूल्यों का सम्मान किया है, पार्टी के संविधान का पालन किया  बिहार के 11 करोड़ लोगों के महागठबंधन के पक्ष में दिये गये जनादेश का सम्मान किया मैं इस सिलिसले को न सिर्फ बिहार बल्कि राष्ट्र की खातिर जारी रखूंगा ’’

यह भी पढ़ें:   PM मोदी ने खेला सबसे बड़ा दांव, अगर चूक गई तो जिंदगी भर नहीं भुला पाएंगे दर्द
loading...
Loading...

सभापति ने दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद सोमवार देर शाम यह निर्णय दिया है शरद गुट के नेता जावेद रजा ने बोला कि उन्हें कल देर रात इस निर्णय की प्रति मिली है इसके कानूनी पहलुओं पर आज विशेषज्ञों से विचार विमर्श कर आगे की रणनीति तय की जाएगी

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *