Loading...
Breaking News

युद्ध का नहीं बल्कि वार्ता का विकल्प चुनें अमेरिका व उत्तर कोरिया : चाइना

Image result for विदेश मंत्री वांग यीनई दिल्ली/बीजिंग: चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने सोमवार (4 दिसंबर) को उत्तर कोरियाई संकट में शामिल अमेरिका समेत दूसरे राष्ट्रों से इस मुद्दे को हल करने के लिए प्रतिबंधों के बजाय बातचीत का विकल्प चुनने का आग्रह किया एफे न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, वांग यी ने अपने मंगोलियाई समकक्ष दमदीन सोगतबातर के साथ मीटिंग के बाद संवाददाताओं से बोला कि चाइना उस कार्रवाई के विरोध में है जिससे कोरियाई प्रायद्वीप में तनाव बढ़े उन्होंने बोला कि संयुक्त देश के प्रस्तावों की रूपरेखा के अनुसार नए तरीकों को अपनाया जाना चाहिए

प्योंगयांग केपरमाणु प्रोग्राम पर बीजिंग के विरोध को दोहराते हुए वांग यी ने कहा, “कोई भी प्रस्ताव या तरीका जो अंतरराष्ट्रीय प्रस्तावों में नहीं हैं, वे संयुक्त देश के प्रस्तावों को निष्पादित करने में संकट ही डालेंगे ” इस बीच, दक्षिण कोरिया  अमेरिका ने सोमवार (4 दिसंबर) को एक प्रमुख संयुक्त वायुसेना युद्ध एक्सरसाइज प्रारम्भ किया दक्षिण कोरिया  अमेरिका का यह एक्सरसाइज किम जोंग-उन प्रशासन द्वारा 29 नवंबर को नवीनतम मिसाइल परीक्षण के बाद अपनी ताकत दिखाने का कोशिश है

उत्तर कोरिया द्वारा अपने सबसे शक्तिशाली मिसाइल का परीक्षण किए जाने के दो दिन बाद राष्ट्र की शानदार तकनीकी उपलब्धि की तस्वीर साफ साफ सामने आ गई है  इसके साथ ही यह सवाल उठ रहा है कि क्या इससे अमेरिका को खतरा हो सकता है हालांकि इस बारे में कई सवाल बाकी हैं, लेकिन गवर्नमेंट ने इस बात से सहमति जताई है कि शक्तिशाली ह्वासोंग-15 आईसीबीएम कोरिया के लिए एक मील का पत्थर है,  यह उत्तर कोरिया को परमाणु आधारित लंबी दूरी की मिसाइलों के एक व्यवहार्य शस्त्रागार के लक्ष्य के बहुत करीब पहुंचा देगा

दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्रालय ने शुक्रवार (1 दिसंबर) को सांसदों को पेश एक रिपोर्ट में बताया कि उत्तर कोरिया ने बुधवार (29 नवंबर) को द्विस्तरीय तरल ईंधन वाले मिसाइल का परीक्षण किया था यह मिसाइल 13 हजार किलोमीटर तक मार करने की क्षमता रखता है  इस वजह से अमेरिका इसकी जद में आ सकता है

यह भी पढ़ें:   ट्रंप की रैली में हिंसा, नकाबपोश व्यक्ति ने महिला के ऊपर डाला...
Loading...
loading...

मंत्रालय ने बताया कि यह मिसाइल उत्तर कोरिया के पहले के आईसीबीएम, द ह्वासोंग-14 से बड़ा है  यह बड़ा आयुध ले जाने में सक्षम है रिपोर्ट में यह भी बोला गया है कि ह्वासोंग-15 के परीक्षण के बाद उत्तर कोरिया के उस दावे की पुष्टि हो गई है कि नया मिसाइल ‘‘बहुत बड़े  भारी परमाणु हथियार’’ ले जा सकता है अंतर्राष्ट्रीय रणनीतिक अध्ययन संस्थान के एक विश्लेषक माइकल एलीमैन ने बताया कि ऐसा लगता है कि ह्वासोंग-15, एक हजार किलोग्राम वजन अमेरिका में किसी जगह पर गिराने में सक्षम है

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
यह भी पढ़ें:   भारत-पाक को जोड़ते भगत सिंह, दोनों के हैं साझा हीरो...
Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *