Thursday , April 26 2018
Loading...

‘दलित अब अपने ऊपर होने वाले हमलों का जवाब दे रहे हैं’ : केंद्रीय मंत्री अठावले

Image result for केंद्रीय मंत्री अठावलेहैदराबाद: केंद्रीय समाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री रामदास अठावले ने गुरुवार को बोला कि दलित अब अपने ऊपर होने वाले हमलों का जवाब दे रहे हैं उस्मानिया विश्वविद्यालय के एक सेमिनार में उन्होंने कहा, “आप हमला करेंगे, हम उसका जवाब देंगे आप हमला करेंगे, हम उसका जवाब देंगे ” वह पुणे के भीमा-कोरेगांव में दलितों द्वारा पेशवा बाजीराव द्वितीय की सेना पर ब्रिटेन की सेना के विजय के 200 साल पूरे होने के मौका में आयोजित समारोह में दलितों पर हुए हमले का हवाला दे रहे थे दलित ब्रिटिश सेना का भाग थे

उस्मानिया विश्वविद्यालय में बोल रहे थे अठावले
उन्होंने कहा, “कुछ लोगों ने हमारे समुदाय पर हमला किया हमने भी जवाब दिया कभी-कभी, वे लोग हमला करते हैं लेकिन हम भी जवाब देते हैं ” उन्होंने साथ ही बोला कि दलित किसी पर भी हमला नहीं करते हैं मंत्री ने उस्मानिया विश्वविद्यालय में ‘अंबेडकर  संविधानवाद’ पर सेमीनार में यह बात की

अठावले ने बोला कि अंबेडकरवादी किसी भी जाति के खिलाफ नहीं हैं उन्होंने कहा, “हम किसी के साथ भी लड़ना नहीं चाहते हैं अगर आप लड़ना चाहते हैं, सीमा पर जाइए  पाक के खिलाफ लड़िए आप क्यों अपने ही देशवासियों से लड़ना चाहते हैं?” अठावले ने स्वीकार किया कि दलितों के खिलाफ अत्याचार की घटनाएं हो रही हैं लेकिन बोला कि यह हर स्थान नहीं हो रहीं हैं

पीएम मोदी ने संसद में बोला था कि संविधान उनके लिए धर्मग्रंथ है : अठावले
उन्होंने बोला कि उनकी पार्टी राष्ट्रीय जनतांत्रिक साझेदारी (एनडीए) को समर्थन दे रही है क्योंकि मोदी गवर्नमेंट इंडियन संविधान  अंबेडकर की विचारधारा पर विश्वास रखती है  इसका आदर करती है, अनुसरण करती है अठावले ने बोला कि मोदी ने संसद में बोला था कि संविधान उनके लिए धर्मग्रंथ है  वह संविधान की वजह से ही पीएम बने हैं

यह भी पढ़ें:   OH NO! शहडोल में बोलेरो खड़े ट्रक से टकराई, एक ही परिवार के 9 की मौत
Loading...
loading...

अठावले ने कहा, “भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की इस बारे में अलग विचारधारा हो सकती है लेकिन गुजरात से अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) के नेता मोदी संविधान पर विश्वास करते हैं  अनुसरण करते हैं ” उन्होंने बोला कि जो इंडियन संविधान को नहीं मानते हैं उन्हें हिंदुस्तान छोड़ देना चाहिए

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *