Breaking News

सुप्रीम कोर्ट के जजों की प्रेस कॉन्फ्रेंस ने खड़े किए कई सवाल, खुर्शीद बोले…

Image result for   पूर्व कानून मंत्री सलमान खुर्शीदपूर्व कानून मंत्री सलमान खुर्शीद ने बोला कि ये बेहद दुखद है कि राष्ट्र के सीनियर जजों को मीडिया के सामने आकर अपनी बात रखनी पड़ रही है.एडवोकेट प्रशांत भूषण ने बोला कि ये बात सामने आने से चीफ जस्टिस पर बड़े सवाल खड़े होते हैं. किसी को सामने आने की आवश्यकता थी जो चीफ जस्टिस के हाथों शक्तियों के हो रहे गलत प्रयोग का खुलासा कर सके.
सुप्रीम न्यायालय के एडवोकेट केटीएस तुलसी ने बोला कि कई परिस्थितियां ऐसी घटीत हुईं कि न्यायालय से सीनियर जजों को ये कदम उठाना पड़ा. जब जज अपनी बातें रख रहे थे उनके चेहरे पर दर्द साफ दिख रहा था. हम मांगों को अनसुना किए जाने की बातों का समर्थन नहीं करते, लेकिन इस तरह के मामले सुप्रीम न्यायालय की छवि पर सवाल खड़े करते हैं.

यह भी पढ़ें:   शरद यादव ने भाजपा पर साधा निशाना कहा...

भाजपा के वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने बोला कि वे जजों के इस निर्णय की आलोचना नहीं करेंगे. हम सभी जजों का सम्मान करते हैं  अपेक्षा की जाती है कि पूरा सुप्रीम एक विचारधारा पर राजी हो.

चारों जजों का भी हुआ विरोध

सीनियर एडवोकेट उज्जवल निकम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस पर नाराजगी जताते हुए बोला कि ये न्यायपालिका के लिए एक काला दिवस है, क्योंकि ये प्रेस कॉन्फ्रेंस एक गलत असर ला सकती है. इतना ही नहीं आम आदमी हर न्यायिक निर्णयपर सवाल खड़ा कर सकता है.

Loading...
loading...

पूर्व रिटायर्ड जज आर एस सोढ़ी ने जजों के इस निर्णय पर कड़ा विरोध जताया  बोला कि ये उनकी बचकानी हरकत है. 23 जजों में से सिर्फ 4 इक्ट्ठे हुए जिन्होंने चीफ जस्टिस को कटघरे में खड़ा कर दिया. मैं मानता हूं कि चारों जजों को इस तरह के बयान नहीं देने चाहिए. लोकतंत्र खतरे में है ये उन्हें कहने की आवश्यकता नहीं उसके लिए संसद हमारे राष्ट्र में मौजूद है.

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
यह भी पढ़ें:   दिनाकरण ने कहा की जेल में मौन व्रत पर हैं शशिकला हैं
Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *