Breaking News

पाकिस्तान में आतंकवादी गतिविधियों पर रोक लगाई जा सके इसके लिए अमेरिका पहले ही…

Image result for ट्रम्पनई दिल्ली/वाशिंगटनः पाकिस्तान में आतंकवादी गतिविधियों पर रोक लगाई जा सके इसके लिए अमेरिका पहले ही उसकी सैन्य मदद पर रोक लगा चुका है अब अमेरिका के पब्लिक डिप्लोमेसी एंड पब्लिक अफेयर्स मामलों के अवर विदेश मंत्री स्टीवन गोल्डस्टीन ने उम्मीद जताई है, कि पाक आतंक के विरूद्ध कठोरकदम उठाकर आतंकियों को उसे सौंप देगा

स्थानीय मीडिया को संबोधित करते हुए गोल्डस्टीन ने बोला कि अमेरिका को इस बात की उम्मीद है कि पाक सही कदम उठाकर आतंकियों को सौंपकर अपनी प्रतिबद्धता का पालन करेगा हालांकि उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि पाक की तरफ से उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं मिली है गोल्डस्टीन ने बोला है कि अमेरिका, पाक को राशि तब तक नहीं देगा जब तक वह आतंकवादी गतिविधियों पर रोक नहीं लगा पाता है

गोल्डस्टीन ने बोला है कि अब वो वक्त आ गया है जब पाक को आतंकवाद के विरूद्ध कोई ठोस कदम उठाना चाहिए साथ ही पाक को उन लोगों के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को गंभीरता से लेना चाहिए जो आतंकवाद को समाप्त करने के लिए पाक की मदद के लिए आगे आए हैं उन्होंने बोला कि आतंकवाद को पनाह देने का नुकसान सबसे ज्यादा खुद पाक को ही हुआ है

वहीं, इस मामले में पेंटागन की मुख्य प्रवक्ता डाना ने पत्रकारों से वार्ता करते हुए बोला कि पाक के पास आतंकवाद से लड़ने की क्षमता है एक सवाल का जवाब देते हुए डाना ने बोला कि अमेरिका के पास पाक द्वारा आतंकी खतरों से निपटने के लिए ठोस कदम उठाने के कई मौके हैं अमेरिका की ओर से बोलागया है कि पाक आतंकवाद के खात्मे के लिए हर तरह से मदद करने के लिए तैयार है बता दें कि गत 4 जनवरी को धार्मिक स्वतंत्रता के उल्लंघन को लेकर अमेरिका ने पाक को विशेष निगरानी की सूची में डाल दिया है

यह भी पढ़ें:   इस महिला ने जीती इतिहास की सबसे बड़ी लॉटरी
Loading...
loading...

गौरतलब है कि पाक आतंकवाद का समर्थन ना कर सके इसलिए अमेरिका ने उसको दी जाने वाली सैन्य मदद पर रोक लगाई है अमेरिकी विदेश विभाग की ओर से जारी बयान में बोला गया था कि सैन्य मदद तब तक निलंबित रहेगी जब तक पाक हक्कानी नेटवर्क  अफगान तालिबान के विरूद्ध कार्रवाई नहीं करता इस राशि में प्रमुख रूप से वित्त साल 2016 के लिए विदेशी सैन्य अनुदान (एफएमएफ) में दिए जाने वाले 25 करोड़, 50 लाख डॉलर की राशि शामिल हैं

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
यह भी पढ़ें:   सूडान के राष्ट्रपति ने 259 विद्रोहियों को दिया क्षमादान
Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *