Breaking News

भारतीय टीम के बल्लेबाज जैसे शॉट घर में खेलते हैं, द. अफ्रीका में नहीं खेल सकते : तेंदुलकर

Image result for तेंदुलकरक्रिकेट के ईश्वर माने जाने वाले सचीन तेंदुलकर ने भारतीय टीम के बल्लेबाजों को सलाह दी है कि अगर उन्हें दक्षिण अफ्रीका में पास होना है तो संयम बरतना होगा

एक अंग्रेजी अखबार से बात करते हुए तेंदुलकर ने बोला कि इस बार भारतीय टीम के पास दक्षिण अफ्रीका में सीरीज जीतने का सबसे बढ़िया मौका है.उन्होंने बोला कि टेस्ट क्रिकेट समझदारी  क्षमता का खेल है. खिलाड़ियों को ये बात समझना होगी कि जब आप घरेलू परिस्थितियों में खेलते हैं तो एंजॉय करते हो, लेकिन विदेशी दौरों पर आपको वो मजा नहीं आने वाला है.

जब हिंदुस्तान में मैच होते हैं तो एसजी बॉल का प्रयोग किया जाता है  एसजी बॉल से गेंदबाजों को 20 से 50 ओवर के बाद मदद मिलती है. मगर दक्षिण अफ्रीका में इसका बिलकुल उलट होता है. वहां पर गेंदबाजों के पहले 25 ओवर बहुत ही ध्यान से खेलने की जरुरत होती है. भारतीय टीम के बल्लेबाजों को बस इन 25 ओवर को किसी तरह बिना शॉट मारे खेलना है.

उन्होंने आगे बोला कि अगर भारतीय टीम ने केपटाउन में थोड़ा सा संयम दिखाया होता  50 से 80 ओवर में रन बनाने की प्रयास करती तो नतीजा कुछ  होता. अब सेंचुरियन में खेले जाने वाले दूसरे टेस्ट में ओपनरों की किरदारअहम होगी. ओपनरों को नयी बॉल का डटकर सामना करना होगा.

यह भी पढ़ें:   भारत ने आस्ट्रेलिया को 124 रनों से हराया
Loading...
loading...

25 ओवरों पर ज्यादा ध्यान देने की आवश्यकता

तेंदुलकर ने बोला ‘बल्लेबाजों को शुरु के 25 ओवरों पर ज्यादा ध्यान देने की आवश्यकता है  50 ओवरों के बाद तेजी लाने के लिए उन्हें देखना होगा.गेंदबाजों को सीधी स्थान पर गेंद डालनी चाहिए  सबसे जरूरी बात कि टीम को सकारात्मक रहना चाहिए.

तेंदुलकर ने बोला ‘मुझे नहीं लगता कि कैपटाउन में मिली पराजय के बाद इंडियन खिलाड़ियों का मनोबल टूटा है, दक्षिण अफ्रीका के पास उनकी अपनी कहानियां हैं. यह टीम मैनेजमेंट के लिए एक बहुत ही बड़ी इम्तिहान होगी. यह जितना जरूरी है कि भारतीय टीम फील्ड के बाहर क्या करती है? वैसा ही फील्ड के लिए भी जरूरी है.

यह भी पढ़ें:   कप्तान कोहली व स्मिथ डीआरएस पर एक बार फिर आए आमने-सामने
Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *