Loading...
Breaking News

डीजल-पेट्रोल नहीं होगा जीएसटी में शामिल, रियल एस्टेट को लाने के लिए जेटली ने दिए…

Image result for डीजल-पेट्रोलआम जनता की लंबी मांग को दरकिनार करते हुए पेट्रोल-डीजल को फिल्हाल GST के दायरे में शामिल नहीं किया जाएगा. इन दोनों को GST में लाने के लिए अभी वक्त लगेगा, क्योंकि कई राज्य इसके लिए सहमत नहीं हैं. इससे आम जनता को अभी पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से राहत नहीं मिलेगी.
पहले शामिल होगा रियल एस्टेट, नेचुरल गैस
वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बोला कि राज्य इस वक्त पेट्रोल तथा डीजल को चीज एवं सेवा कर (जीएसटी) के दायरे में लाने के पक्ष में नहीं हैं. हालांकि उन्होंने पेट्रोलियम उत्पादों पर तत्काल कोई नया अप्रत्यक्ष कर लगाने से मना किया. इसलिए पहले रियल एस्टेट  नेचुरल गैस को इसमें शामिल किया जाएगा.

इसके अतिरिक्त जेटली ने बोला कि, कॉरपोरेट कर की दर को वादे के मुताबिक 25 प्रतिशत पर तभी लाया जा सकता है, जब उद्योग को दी गई सभी रियायतें समाप्त हो जाएंगी. बीते वर्ष एक जुलाई को लागू किए गए GST के दायरे से रियल एस्टेट, कच्चा तेल, जेट ईंधन या एटीएफ, प्राकृतिक गैस, डीजल तथा पेट्रोल को बाहर रखा गया था.

शराब भी आएगी दायरे में
जेटली ने बोला कि शराब को भी पेट्रोल-डीजल की तरह जल्द ही GST के दायरे में लाने की प्रयास की जाएगी. उन्होंने बोला कि, GST को लेकर अब कोई उठापटक नहीं हैं. चीजें सामान्य हो चुकी हैं. अब लगभग हर मीटिंग में हम शुल्क को युक्तिसंगत बनाने में सफल हैं  यह प्रक्रिया आगे भी जारी रहेगी. बता दें कि फिल्हाल राष्ट्र भर में पेट्रोल  डीजल की कीमतें पिछले तीन वर्ष के उच्चतम स्तर पर हैं, जिसे लेकर केंद्र गवर्नमेंट आलोचना झेल रही है.

यह भी पढ़ें:   होम लोन पर कैशबैक की सुविधा दे रहा है राष्ट्र का ये बैंक
Loading...
loading...

संभव नहीं पेट्रोल-डीजल को 28 प्रतिशत पर बेचना
जानकारों का मानना है कि अगर पेट्रोल  डीजल पर भी यदि GST लागू कर दिया जाए तो स्थितियां खासी बदल सकती हैं. वहीं, वित्त सचिव हंसमुख अढिया ने साफ कर दिया कि राजस्व केंद्र  राज्य दोनों के लिए महत्वपूर्ण है, इसलिए 28 प्रतिशत GST लगाकर पेट्रोल-डीजल बेचना संभव नहीं है.

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *