Loading...
Breaking News

ये चमत्कारी मंदिर में माता देती है अपने भक्तों को…

Image result for इस चमत्कारी मंदिर में माता देतीभारत में ऐसे बहुत से मंदिर है जो चमत्कारी है  अपने चमत्कारों के कारण लोगों को यह सोचने पर विवश कर देते है कि आज भी संसार में ईश्वरीय शक्ति मौजूद है ऐसा ही एक मंदिर राजस्थान के अजमेर जिले के विजय नगर में स्थित है जहां बड़ी माता अपने दिव्य स्वारूप में पाती के माध्यम से भक्तों के प्रश्नों का उत्तर देती है आइये जानते है इस मंदिर की विशेषताऔर इसका इतिहास क्या है?

ऐसीमान्यता है कि विजयनगर में माता के परम भक्त  उपासक चुन्नीलाल टांक एक राजकीय सीनियर सैकेंडरी स्कूल में वाणिज्य के व्याख्याता के रूप में पदस्थ थे जो सादगी से अपनाज़िंदगी व्यतीत कर अपने विद्यार्थियों को एजुकेशन प्रदान करते थे विजयनगर में बड़ी माता का मंदिर कई सालों से विद्यमान है एक दिन मंदिर के पुजारी को स्वप्न में माता ने दर्शन देकरबोला की मेरे भक्त चुन्नीलाल को मेरे समक्ष उपस्थित कर फूल और पाती के माध्यम से उन्हें मुझसे प्रश्न पूंछने को कहो

अगली प्रातः काल मंदिर के पुजारी ने चुन्नीलालको सन्देश दिया  उन्होंने माता के समक्ष एक पाती पर अंग्रेजी में एक प्रश्न पूंछा प्रश्न पूंछते समय मन में यह भावना थी की क्या माता अंग्रेजी में उनके प्रश्नों का उत्तर दे पाएंगी उसी रात्री को माता चुन्नीलाल के स्वप्न में आकर उनके द्वारा पूंछे गए प्रश्न का जवाब देकर यह भी बोला कि मेरे ही आशीर्वाद से तुम्हें अंग्रेजी का ज्ञान प्राप्त हुआ है

यह भी पढ़ें:   छोटी अंगुली के राज जानकार हो जाएंगे हैरान, देखें विडियो
Loading...
loading...

इस स्वाप्न के कुछ दिनों के बाद चुन्नीलाल के साथ एक अजीबो गरीब घटना घटी जिसने उन्हें आश्चर्यचकित कर दिया एक दिन उन्होंने अपने आप को अपने घर से चार किलोमीटर दूर माता के मंदिर में पड़ा पाया जबकि वह वहां गए ही नहीं थे इस घटना से चुन्नी लाल में बहुत बड़ापरिवर्तन आया  उन्होंने अपना ज़िंदगी माता को समर्पित कर दिया  तभी से यह मंदिर प्रसिद्ध होने लगा  आज भी जो भक्त सच्चे मन से पाती पर लिखकर माता से अपने प्रश्न का उत्तर पूंछता है उसका उत्तर माता की मूर्ती पर लगे सिंदूर से गिरे अंश के माध्यम से मिल जाता है

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
यह भी पढ़ें:   ये पक्षी दूर करता हैं असफलता को
Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *