Wednesday , August 22 2018
Loading...

सचिन तेंदुलकर ने राज्यसभा सांसद के तौर पर किया ऐसा काम

Related imageनई दिल्ली: क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर की राज्यसभा में कम अटेंडेंस पर भले ही सवाल उठते रहे हों, लेकिन इस बार उन्होंने बतौर सांसद ऐसा कार्य किया है जो काबिले तारीफ है सचिन ने राज्यसभा सांसद के रूप में अपना पूरा वेतन  भत्ते पीएम राहत खज़ाना में दान कर दिये उनका कार्यकाल हाल में खत्म हुआ था पिछले छह सालों में तेंदुलकर को वेतन के रूप में लगभग 90 लाख रूपये अन्य मासिक भत्ते मिले थे पीएम ऑफिस ने भी आभार लेटर जारी किया है जिसमें लिखा गया है, ‘प्रधानमंत्री ने इस सहृदयता के लिये आभार जाहीर किया है यह सहयोग संकटग्रस्त लोगों को सहायता पहुंचाने में बहुत मददगार होगा ‘

Loading...

तेंदुलकर  मशहूर अभिनेत्री रेखा की इन सालों में संसद में कम उपस्थिति के लिये कई बार आलोचना झेलनी पड़ी थी भारतीय टीम के पूर्व कप्तान ने हालांकि सांसद निधि का अच्छा उपयोग किया था उनके ऑफिस से जारी आंकड़ों में उन्होंने राष्ट्र भर में 185 परियोजनाओं को मंजूरी देने तथा उन्हें आवंटित 30 करोड़ रुपए में से 7.4 करोड़ रुपये एजुकेशन  ढांचागत विकास में खर्च करने का दावा किया है

loading...

सांसद आदर्श ग्राम योजना प्रोग्राम के तहत तेंदुलकर ने दो गांवों को भी गोद लिया जिनमें आंध्र प्रदेश का पुत्तम राजू केंद्रिगा  महाराष्ट्र का दोंजा गांव शामिल हैं

सचिन तेंदुलकर ने कश्मीर में स्कूल की मदद के लिए 40 लाख रुपए दिए
इससे पहले सचिन तेंदुलकर ने सांसद लोकल एरिया विकास (एमपीलैड) खज़ाना से जम्मू व कश्मीर के बांदीपोरा जिले के स्कूल की इमारत निर्माण के लिए 40 लाख रुपए दिए हैं इस एरिया के इकलौते स्कूल इंपीरियल एजुकेशनल इंस्टीट्यूट दुर्गमुल्ला का निर्माण 2007 में हुआ था इसमें कक्षा एक से 10 तक लगभग 1000 विद्यार्थी पढ़ते हैं राज्य सभा सदस्य तेंदुलकर के खज़ाना से यहां 10 कक्षाओं, चार प्रयोगशाला, प्रशासनिक ब्लॉक, छह प्रसाधन  एक प्रार्थना हाल का निर्माण किया जाएगा सचिन के इस कदम की जम्मू व कश्मीर की CM महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट कर तारीफ की थीं

इससे पहले तेंदुलकर ने दक्षिण मुंबई के एक स्कूल के उन्नयन  कक्षाओं के निर्माण के लिए खज़ाना दिया था एमपीलैड खज़ाना से तेंदुलकर राष्ट्र के विभिन्न हिस्सों में स्कूल  शैक्षिक संस्थानों से जुड़ी 20 परियोजनाओं में 7.4 करोड़ रुपये की राशि दे चुके हैं

इसके अतिरिक्त सचिन तेंदुलकर व्यक्तिगत तौर पर भी कई एनजीओ की लगातार मदद करते हैं बस अंतर इतना है कि उनके व्यक्तिगत सहयोग या मदद से जुड़ी खबरें मीडिया की सुर्खियों का भाग नहीं बन पातीं क्योंकि सचिन समाज कल्याण से जुड़े कार्यों के लिए प्रचार-प्रसार नहीं चाहते

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *