Sunday , May 27 2018
Loading...

महानिदेशक ओपी सिंह ने बोला कि पैरामिलिट्री की तर्ज पर उत्तर प्रदेश में स्त्रियों की बटालियन बनाई जाएगी

Image result for पुलिस महानिदेशक ओपी सिंहपुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने बोला कि पैरामिलिट्री की तर्ज पर उत्तर प्रदेश में स्त्रियों की बटालियन बनाई जाएगी. इस बटालियन का इस्तेमाल कानून व्यवस्था सुधारने में किया जाएगा.

बढ़ते साइबर अपराधों के मद्देनजर हर जिले में साइबर यूनिट गठित करने के साथ फोरेंसिक लैब को अपग्रेड किया जाएगा. उन्होंने बोला कि प्रदेश में किसी मुठभेड़ को लेकर कोई सवाल नहीं है.

डीजीपी ओपी सिंह शनिवार को सहारनपुर पुलिस लाइन के गेस्ट हाउस उद्घाटन के बाद पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे. उन्होंने बोला कि अपराधियों के विरूद्ध पुलिस आक्रामक होकर कार्रवाई करेगी.

जो भी बदमाश पुलिस पर गोली चलाएगा उसका जवाब गोली से ही दिया जाएगा. एक सवाल के जवाब में उन्होंने बोला कि प्रदेश में हुई तमाम पुलिस मुठभेड़ कानूनी दायरे में हुई है. हर मुठभेड़ की मजिस्ट्रीयल जांच हुई है. किसी मुठभेड़ को लेकर कोई शिकायत नहीं है.

यह भी पढ़ें:   मीनाक्षी लेखी ने कहा कि दलित-दलित व अब 'महिला-महिला' चिल्ला रहे हैं
Loading...

डीजीपी ने बोला कि पिछले एक वर्ष में प्रदेश की कानून व्यवस्था में सुधार के साथ संगीन अपराधों का ग्राफ भी नीचे आया है. खासतौर से मर्डर  डकैती के हैड में कमी आई है. पूरा फोकस बेसिक पुलिसिंग पर रहा है.

एक वर्ष में प्रदेश में पुलिस के द्वारा 1450 ऑपरेशन किए गए, जिनमें 3354 क्रिमिनल पकड़े गए.ऑपरेशन के दौरान पुलिस पर गोली चलाने वाले 48 बदमाशों को ढेर किया गया.

पुलिस दबाव में 6818 क्रिमिनल जमानत तुड़वाकर कारागार चले गए. गैंगस्टर के 203 मामलों में 199 करोड़ की संपत्ति जब्त की गई, जो एक रिकार्ड है. अपर पुलिस महानिदेशक प्रशांत कुमार, डीआईजी शरद सचान, एसएसपी बबलू कुमार, एसपी सिटी प्रबल प्रताप सिंह आदि मौजूद रहे.

साइबर अपराध को लेकर दी जाएगी ट्रेनिंग
डीजीपी ओपी सिंह ने बोला कि साइबर अपराध को लेकर जिला स्तर पर यूनिट के अतिरिक्त राज्य स्तर पर अलग से सैल गठित किया जाएगा. प्रत्येक दरोगा  इंस्पेक्टर को साइबर अपराधों की विवेचना की विशेष ट्रेनिंग प्रदान की जाएगी.

यह भी पढ़ें:   राजनाथ सिंह ने बोला कि केंद्र गवर्नमेंट हिंदुस्तान को विश्व में चिकित्सा स्थल के रूप में...

स्त्रियों पर होने वाले अत्याचार रोकने के लिए एंटी रोमियो स्क्वाड को  संवेदनशील बनाया गया है.डीजीपी के मुताबिक एक लाख स्थानों पर 28 लाख लोगों को चेक किया गया. स्क्वाड की तरफ से 200 मामलों में मुकदमे पंजीकृत कराए गए हैं.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *