Tuesday , October 23 2018
Loading...

बीमार लालू गए दिल्ली, चाचा नीतीश ने तेजस्वी को कहा…

Related imageचारा घोटाला के मामलों में सजा काट रहे लालू प्रसाद यादव की परेशानियां बढ़तीं जा रही हैं. उनकी सजा अवधि तो बढ़ ही रही है, सेहत भी बेकार चल रहा है. बीते सप्‍ताह उन्‍हें बेहतर उपचार के लिए दिल्ली एम्स भेजा गया. उधर, भागलपुर हिंसा कानून-व्‍यवस्‍था के मुद्दे भी विवादों में रहे. एक वक्‍त तो ऐसा भी आया, जब गुस्‍साए मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार को नेता प्रतिपक्ष को ‘बाबू’ संबोधित कर समझाते दिखे. ये घटनाएं सोशल मीडिया में चर्चा में रहीं.

ट्रेन से दिल्‍ली गए लालू

Loading...

चारा घोटाला में रांची कारागार में सजा काट रहे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को कई बीमारियां हैं.कारागार में जब उनकी स्थिति बेकार हुई तो उन्‍हें रांची के बड़े अस्‍पताल (रिम्‍स) में भर्ती कराया गया.लेकिन, वहां सुधार नहीं होने पर अस्‍पताल ने दिल्‍ली के एम्‍स भेजने की अनुशंसा की. लालू ने फ्लाइट से ले जाने की अर्जी दी, लेकिन उन्‍हेंराजधानी एक्सप्रेस ट्रेन से दिल्ली ले जाया गया. इसे लेकर राजद नेता नाराज दिखे. लालू की बड़ी बेटी और राज्‍यसभा सांसद मीसा भारती ने फेसबुक पोस्ट  ट्वीट में इसे लेकर असहमति जतायी, जिसपर कुछ यूजर्स ने उनसे सहानुभूति दिखाई तो कुछ ने उन्हें नसीहत दे डाली.

loading...

इलाज के लिए दिल्‍ली पहुंचे लालू की दिल्ली स्टेशन की फोटोज़ भी खूब वायरल हुईं, जिसमे बीमार लालू हाथ जोड़े दिखे. दिल्ली स्टेशन पर कुलियों ने लालू जिंदाबाद के नारे लगाए. इसकी फोटोज़ वीडियो भी खूब देखे गए. दिल्ली पहुंचकर लालू ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार  बीजेपी पर निशाना साधा  बोला कि बीजेपी ने बिहार में आग लगा दी है. यह भी बोला कि नीतीश का कॅरियर समाप्त हो चुका है.

रांची में लालू से मिले शत्रुघ्‍न, दिल्‍ली में मिले कुश्‍वाहा

लालू के दिल्ली जाने से पहले बीजेपी नेता सह महान एक्टर शत्रुघ्न सिन्हा ने उनसे रांची (रिम्स) जाकर मुलाकात की थी. लालू ने उनसे परिवार को देखने की विनती की, जिसके बाद शत्रुघ्न सिन्हा ने राबड़ी आवास जाकर सबसे मुलाकात की  तेजस्वी की जमकर तारीफ की. इसपर यूजर्स ने उन्हें ट्विटर पर ट्रोल किया  कहा- खामोश.

बीमार लालू से रालोसपा नेता सह केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा दिल्ली (एम्स) में मिले. इसे लेकर बिहार में राजनीतिक हड़कंप मच गई  तरह-तरह के कयास लगाए गए. इस माहौल के बीच राजद-कांग्रेस के साथ जीतनराम मांझी ने भी नसीहत दी कि मुख्यमंत्री नीतीश को महागठबंधन में लौट आना चाहिए. इसपर जदयू ने तीखी रिएक्शन देते हुए बोला कि वह राजग का भाग है.

भागलपुर हिंसा और कानून व्‍यवस्‍था पर पॉलिटिक्स

बिहार में कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा रामनवमी के मौका पर माहौल बिगाडऩे का कोशिश किया गया. कई जिलों मेें अप्रिय घटनाएं हुईं, जिन्‍हें लेकर सोशल मीडिया पर भी बहुत ज्यादा तीखी बहस हुई. यह मामला विधानमंडल के बजट सत्र में भी गूंजा. इसपर तेजस्वी यादव ने सदन में मुख्यमंत्रीनीतीश से जवाब मांगा. नीतीश कुमार पहले तो चुपचाप सुनते रहे फिर बोले, ‘बाबूअभी पॉलिटिक्स में लंबा कॅरियर है, बोलना सीखिए.‘ इसके बाद उन्होंने राजद के वरीय नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी को बोला कि इन्हें सदन में बोलने का उपाय सिखाएं.

तेजस्वी ने ट्वीट कर इसका जवाब देते हुए लिखा, चाचा मैं पॉलिटिक्स में सेवा करने आया हूं. आप कॅरियर बनाने के उद्देश्य से आए थे, इसीलिए सभी पार्टियों के साथ रहे. तेजस्वी ने अगले ट्वीट में लिखा कि नीतीश जी ने सदन में हमें ‘बाबू’ बोला. हम चाहते हैं कि अगर हम गलत करें तो वो पास बुलाएं, समझाएं, सिखाएं. लेकिन अगर वो हमें दंगा कराना, भड़काना, दंगाईयों को संरक्षण देना जनादेश का अपमान करना सिखाएंगे तो हमें ऐसी सीख हरगिज नहीं चाहिए. बिल्कुल भी नहीं चाचा.

नीतीश ने तेजस्वी को बाबू बोला तो राबड़ी भी नाराज हो गईं  बोला कि नीतीश कुमार तो पैदा ही बड़े हुए थे, उन्हें अब बच्चों से सीख लेनी चाहिए.

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *