Sunday , May 27 2018
Loading...

राजनाथ सिंह ने बोला कि केंद्र गवर्नमेंट हिंदुस्तान को विश्व में चिकित्सा स्थल के रूप में…

नई दिल्ली . केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने बोला कि केंद्र गवर्नमेंट हिंदुस्तान को विश्व में चिकित्सा स्थल के रूप में विकसित कर रही है. इसके लिए कई अहम कदम उठाए गए हैं  वीजा नियमों को आसान बनाया गया है. अब विदेश से हिंदुस्तान आकर उपचार कराना पहले के मुकाबले सरल हुआ है इसलिए हिंदुस्तान मेडिकल पर्यटन के लिहाज से संसार में नंबर एक पसंदीदा स्थल बनकर उभरा है.Image result for राजनाथ सिंह

161 राष्ट्रों को लोगों को मेडिकल वीजा दिया जा रहा है

राजनाथ सिंह गंगाराम अस्पताल के 127वें स्थापना दिवस समारोह में लोगों को संबोधित कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने कैंसर के उपचार के लिए अस्पताल में रेडियोथेरेपी और ओपीडी ब्लॉक का शिलान्यास भी किया. उन्होंने बोला कि 161 राष्ट्रों को लोगों को मेडिकल वीजा दिया जा रहा है. पहले मेडिकल वीजा पर उपचार के लिए आने वाले मरीज 30 दिनों तक यहां रह पाते थे. इस समयावधि को बढ़ाकर 60 दिन कर दिया गया है. इसके अतिरिक्त एक बार वीजा जारी होने पर यहां तीन बार मरीज आ सकेंगे.

बेहतर चिकित्सा सुविधा मिल सके

यह भी पढ़ें:   महानिदेशक ओपी सिंह ने बोला कि पैरामिलिट्री की तर्ज पर उत्तर प्रदेश में स्त्रियों की बटालियन बनाई जाएगी
Loading...

राजनाथ सिंह ने बोला कि 125 करोड़ की आबादी को चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराना चुनौतीपूर्ण है. वर्तमान में जीडीपी का 1.16 फीसद सेहत पर खर्च हो रहा है. आगामी दिनों में इसे बढ़ाकर 2.5 फीसद किया जाएगा. उन्होंने आयुष्मान हिंदुस्तान बीमा योजना की बात करते हुए बोला कि आय की दृष्टि से यहां लोगों में असमानता है. इसको दूर करने के लिए आयुष्मान हिंदुस्तान योजना लाई गई है ताकि गरीब परिवारों के मरीजों को बेहतर चिकित्सा सुविधा मिल सके. इसके तहत 10 करोड़ करीब परिवारों के लोगों का पांच लाख रुपये का सेहत बीमा कराया जाएगा.

निजी एरिया की भागीदारी के बगैर यूनिवर्सल हेल्थ केयर असंभव

यह भी पढ़ें:   मुख्यमंत्री रमन सिंह ने कहा की अमेठी में विकास न कर पाने वाले छत्तीसगढ़ में खोज रहे विकास

राजनाथ सिंह ने बोला कि व्यक्तिगत एरिया की भागीदारी के बगैर यूनिवर्सल हेल्थ केयर संभव नहीं है. लोगों को किफायती सेहत सुविधाओं के साथ-साथ यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज भी महत्वपूर्ण है.इसके लिए सेहत एरिया में भारी निवेश की आवश्यकता है. इस दौरान अस्पताल के बोर्ड प्रबंधन के चेयरमैन डॉ डीएस राणा ने अस्पताल की वार्षिक रिपोर्ट पेश की.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *