Tuesday , October 23 2018
Loading...

मीनाक्षी लेखी ने कहा कि दलित-दलित व अब ‘महिला-महिला’ चिल्ला रहे हैं

नई दिल्ली : कठुआ गैंगरेप  उन्नाव बलात्कार केस को लेकर केंद्र गवर्नमेंट पर चौतरफा हमले हो रहे हैं इन हमलों को लेकर भाजपा ने पलटवार करते हुए राष्ट्र में माहौल बेकार करने के लिए कांग्रेस पार्टी को जिम्मेदार ठहराया है भाजपा प्रवक्ता  सांसद मीनाक्षी लेखी ने बोला कि आप उनका (कांग्रेस) प्लान देख सकते हैं, पहले वे अल्पसंख्यक-अल्पसंख्यक चिल्ला रहे थे, उसके बाद दलित-दलित  अब ‘महिला-महिला’ चिल्ला रहे हैं उन्होंने बोला कि यह कांग्रेस पार्टी की साजिश है कि राज्य गवर्नमेंट के मुद्दों पर केंद्र को घेरा जा रहा है  राज्य सरकारों द्वारा की जा रही कड़ी कार्रवाइयों को नजरंदाज किया जा रहा है Image result for मीनाक्षी लेखी

कठुआ गैंगरेप पर टिप्पणी करते हुए मीनाक्षी लेखी ने बोला कि जम्मू व कश्मीर पुलिस ने इस मामले में पूरी तरह के जांच करने के बाद आरोपियों को अरैस्ट कर लिया है

गुमराह किया गया मंत्रियों को
सांसद लेखी ने कठुआ दुष्कर्म एवं मर्डर मामले में पुलिस जांच के विरूद्ध रैली में शामिल होने वाले पार्टी के दो मंत्रियों का बचाव करते हुए बोला कि इन्हें प्रदर्शन में शामिल होने को लेकर भ्रमित किया गया था उन्होंने आरोप लगाया कि विपक्षी दल इन घटनाओं पर खतरनाक पॉलिटिक्स कर रहे हैं उन्होंने बोला कि कठुआ में विरोध-प्रदर्शन को आगे बढ़ाने वाले जम्मू बार एसोसिएशन के अध्यक्ष बीएस स्लाथिया वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी नेता अधीन नबी आजाद के पोलिंग एजेंट थे

 

सांप्रदियक रंग दे रही है कांग्रेस
कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा बलात्कार कांडों पर बुलाए कैंडल मार्च पर उन्होंने बोला कि विपक्षी दलों द्वारा इस तरह के विरोध-प्रदर्शन कर मामलों को सांप्रदायिकता का रंग देने की प्रयास की जा रही हैमीनाक्षी लेखी ने बोला कि 1984 के दंगों में स्त्रियों पर खूब अत्याचार हुए, लेकिन किसी ने कोई कैंडल मार्च नहीं निकाला राजनीतिक स्वार्थ के लिए अपनी सुविधा के अनुसार मुद्दों को उठाया जा रहा है, इस तरह की पॉलिटिक्स बंद होनी चाहिए उन्नाव बलात्कार पर भाजपा सांसद ने बोला कि यह घटना 10 महीने पहले हुई थी पुलिस को दिए बयान में विधायक कुलदीप सिंह सेंगर का कहीं भी नाम नहीं है पीड़िता ने पीएम उत्तर प्रदेश के CM को लेटर लिखा था, तभी से पूरे मामले पर कार्रवाई हो रही है

Loading...
Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *