Tuesday , April 24 2018
Loading...

जितेंद्र सिंह ने कहा की कठुआ गैंगरेप की सीबीआई जांच कराने के लिए…

श्रीनगर : कठुआ गैंगरेप  मर्डर मामले में जम्मू व कश्मीर पुलिस की कार्रवाई सवालों के कठघरे में है विपक्ष लगातार इस मामले में भाजपा पर हावी होने की प्रयास कर रहा है इसी बीच पीएमओ में राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह ने न्यूज एजेंसी ANI से वार्ता करते हुए कहा, ‘हमें इस मामले को CBI को देने में कोई समस्या नहीं है अगर राज्य गवर्नमेंट हमें कहती है तो हम इस मामले को आज ही CBI को सौंप देंगे ‘ Image result for जितेंद्र सिंह

कांग्रेस ने की जितेंद्र सिंह को बर्खास्त करने की मांग
वहीं, इस मामले में कांग्रेस पार्टी ने विरोध जताते हुए जितेंद्र सिंह को बर्खास्त करने की मांग की हैजम्मू व कश्मीर प्रदेश कांग्रेस पार्टी कमेटी ने अपराध ब्रांच की जांच पर सवाल उठाते हुए बोला कि चार्टशीट दायर करने वाले कठुआ के वकीलों का लाइसेंस तत्काल असर से रद्द किया जाना चाहिए

पिता ने आरोपियों को फांसी देने की अपील की
मीडिया से बात करने के दौरान मासूम के पिता का दर्द छलक उठा उन्होंने बोला कि वे अपनी बेटी को हर दिन याद करते हैं आगे उन्होंने आरोपियों के लिए फांसी की सजा की मांग की आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि नौ मार्च को मामले में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की न्यायालय में 15 पन्नों की चार्जशीट फाइल की गई थी जिसके बाद जनवरी में हुई ये घटना सबके सामने आई अपनी आठ वर्ष की बेटी को खोने वाली पिता ने अपना दर्द बयां करते हुए बोला कि, ‘मैं अपनी बेटी को हर दिन याद करता हूं जो उसे मारने के लिए जिम्मेदार हैं उन्हें फांसी पर लटका देना चाहिए ‘

यह भी पढ़ें:   बड़ी खबर: दलाई लामा ने दक्षिण कोरिया के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति को दी बधाई
Loading...
loading...

क्या है पूरा मामला
उल्लेखनीय है कि 10 जनवरी को कठुआ बकरवाल समुदाय के एक परिवार की आठ वर्ष की बच्ची आकस्मित गायब हो गई थी उसके लापता होने की रिपोर्ट पुलिस में दर्ज करवाई गई थी चार्जशीट के मुताबिक, आरोपियों ने घोड़े ढूंढने में मदद करने के बहाने लड़की को अगवा कर लिया था बच्ची को देवीस्थान में बंधक बनाए रखा गया था उसे बेहोश रखने के लिए नशे की दवाइयां दी गईं 17 जनवरी को झाड़ियों में बच्ची का मृत शरीर पाया गया था मेडिकल जांच में गैंगरेप की पुष्टी हुई बच्ची का अपहरण कर उसके साथ बलात्कार करने के बाद उसकी मर्डर करने के मामले में मुख्य आरोपी सांजी राम समेत आठ लोगों का आरोपी बनाते हुए उन्हें अरैस्ट कर लिया है

समुदाय को हटाने की साजिश के तहत वारदात को दिया अंजाम
चार्जशीट में इस बात का खुलासा हुआ है कि बकरवाल समुदाय की बच्ची का अपहरण, दुष्कर्म  मर्डर इलाके से इस अल्पसंख्यक समुदाय को हटाने की एक सोची समझी साजिश का भाग थी इसमें कठुआ स्थित रासना गांव में देवीस्थान, मंदिर के सेवादार को अपहरण, दुष्कर्म  मर्डर के पीछे मुख्य साजिशकर्ता बताया गया है सांझी राम के साथ विशेष पुलिस ऑफिसर दीपक खजुरिया  सुरेंद्र वर्मा , मित्र परवेश कुमार उर्फ मन्नू , राम का किशोर भतीजा  उसका बेटा विशाल जंगोत्रा उर्फ शम्मा कथित तौर पर शामिल हुएचार्जशीट में जांच ऑफिसर ( आईओ ) हेड कांस्टेबल तिलक राज  उप निरीक्षक आनंद दत्त भी नामजद हैं जिन्होंने राम से कथित तौर पर चार लाख रुपये लिए  अहम सबूत नष्ट किए

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
यह भी पढ़ें:   आज PM मोदी ने चेन्नई में रक्षा प्रदर्शनी का उद्घाटन किया
Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *