Sunday , May 27 2018
Loading...

कीटनाशक दवाइयों से कैंसर नहीं होता, जाने

आमतौर पर समाज में यह धारणा बनी है कि फसलों में अत्यधिक पेस्टीसाइड यानी कीटनाशक के प्रयोग से कैंसर जैसा भयानक रोग होता है. लेकिन, रिसर्च में जो हकीकत सामने आया है उसके मुताबिक कीटनाशक दवाइयों के उपयोग से कैंसर नहीं होता है. जेआरएफ की रिपोर्ट के मुताबिक जीवों पर होने वाले कैंसर का कीटनाशक से कोई संबंध नहीं है.कीटनाशकों  दूसरी एग्रो-केमिस्ट्री से जुड़े उत्पादों पर तीन दशक से अधिक समय से रिसर्च कर रही मशहूर कंपनी जय रिसर्च फाउंडेशन (जेआरएफ) के निदेशक डॉ अभय देशपांडे ने कीटनाशक से कैंसर होने की मिथक को महज भ्रांति बताया है. उन्होंने बोला कि अगर कीटनाशक की वजह से कैंसर होता तो गवर्नमेंट कब का इस पर प्रतिबंध लगा चुकी होती. Image result for कीटनाशक दवाइयों से कैंसर नहीं होता

भारत आज संसार का दूसरा सबसे बड़ा कृषि उत्पादक राष्ट्र बना है तो इसका श्रेय कीटनाशक दवा को जाता है. कीटनाशक दवाइयां विभिन्न प्रकार के कीट पतंगों  वार्म से फसल की सुरक्षा कर उत्पादन बढ़ाने में अहम सहयोग देते हैं. डॉ देशपांडे ने अपने संस्थान में एक रिसर्च का हवाला देते हुए बोलाकि उन्होंने 50 चूहों पर इस्तेमाल किया कि इसमें से 20-25 चूहे बिना किसी वजह के कैंसरग्रस्त हो जाते हैं. यही स्थिति इंसानों में भी है.

यह भी पढ़ें:   पत्नी के कार्य में हाथ बंटाने के फायदे जानकर हो जाएंगे हैरान
Loading...

कुछ लोग जीवनशैली में परिवर्तन या दूसरी वजह से कैंसर की गिरफ्त में आते हैं जबकि रिसर्च के बारे में शून्य जानकारी रखने वाले कथित एनजीओ  उसके कार्यकर्ता कीटनाशक दवा को जिम्मेदार ठहराते हैं. देशपांडे ने बताया कि संसार में कीटनाशक के प्रयोग के मामले में हिंदुस्तान 11 वें क्रमांक पर है. राष्ट्र में पंजाब  आंध्र प्रदेश में सबसे ज्यादा कीटनाशक का प्रयोग किया जाता है. इन दोनो राज्यों में मछली का भी सबसे अधिक उत्पादन होता है. अगर, कीटनाशक से कैंसर होता तो सबसे पहले मछलियां ही मर जातीं.

यह भी पढ़ें:   दांतो व इसका सम्बंध बड़ा ही गहरा है, जाने
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *