Thursday , June 21 2018
Loading...

दिल्ली महिला आयोग ने नाबालिग बच्ची को कराया मुक्त, स्वाति ने कहा…

नई दिल्ली . दिल्ली महिला आयोग ने तीसरी ऐसी बच्ची को बचाया है जिससे जबरन घरेलू कार्य करवाया जा रहा था. दिल्ली महिला आयोग को सूचना मिली थी कि किंग्सवे कैम्प केे एक घर में 14 वर्ष की बच्ची से कार्य करवाया जा रहा है, जिसके बाद आयोग की टीम तुरंत पुलिस के साथ मौकेे पर पहुंची  बच्ची को मुक्त कराया.Image result for दिल्ली महिला आयोग ने नाबालिग बच्ची को कराया मुक्त, स्वाति ने कहा

छोड़कर चली गई मां

बच्ची की काउंसलिंग की गई तो उसने बताया कि जब वह बहुत छोटी थी तब उसके पिता की मौत हो गयी थी.उसने बताया कि उसके पिता की मौत के बाद उसकी मां उसके सौतेले पिता के साथ रहती थी. बच्ची ने बताया कि उसने एक संबंध की बहन से उसे दिल्ली में जॉब लगवाने के लिए बोला था. उसने इस लड़की को इस घर में फरवरी 2017 में 5000 रुपये प्रतिमाह तनख्वाह पर घरेलू कार्य करने के लिए रखवाया. वह तब से यहां कार्य कर रही थी मगर अभी तक उसको 12000 रुपये दिए गए थे, वह भी उसकी बहन को दिए गए थे.

पुलिस ने दर्ज की FIR

यह भी पढ़ें:   योगी ने कहा कि हर वस्तु के लिए गवर्नमेंट पर निर्भर न रहें मुख्य जी बदलें गांव की तस्वीर
Loading...

जिस घर में लड़की कार्य करती थी उसके मालिक का ऑटो पार्ट्स का व्यापार है. छुड़वाने के बाद बच्ची को रात में रुकने के लिए शेल्टर होम भेज दिया गया  अगले दिन प्रातः काल उसको बाल कल्याण समिति के समक्ष पेश किया गया. बाल कल्याण समिति ने पुलिस को एफआईआर दर्ज करने  उस बच्ची की आयु जांचने के लिए टेस्ट कराने का आदेश दिया. इस मामले में पुलिस ने जेजे एक्ट की धाराओं में एफआईआर दर्ज कर ली है.

मानवता दांव पर लगी है

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल जयहिंद ने बोला कि ‘इन छोटी बच्चियों से इस तरह कार्यकरवाना अमानवीय कृत्य है. इन्सानियत दांव पर लगी है. हमें इन बच्चों को स्वस्थ बचपन, अच्छी एजुकेशन सेहत सुविधाएं देनी चाहिए. सभी लोगों को आगे आना चाहिए  इनकी सहायता करनी चाहिए.

यह भी पढ़ें:   रामविलास पासवान NDA को छोड़ महागठबंधन में शामिल होंगे : राजद नेता
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *