Saturday , February 16 2019
Loading...

मायावती ने कहा कि लोक कल्याण मित्र की नियुक्ति दर्शाती है उत्तर प्रदेश गवर्नमेंट की विफलता

लखनऊ: बसपा (बसपा) अध्यक्ष मायावती ने यूपी की के अपनी योजनाओं एवं कार्यक्रमों के प्रचार-प्रसार के लिये ’लोक कल्याण मित्र’ नियुक्त करने के फैसला को करार दिया है मायावती ने शुक्रवार को लखनऊ में बयान जारी कर बोला कि ‘लोक कल्याण मित्र‘ नियुक्त करने का हाल का निर्णय लागू होने से सरकारी धन का दुरुपयोग होगा उन्होंने बोला कि राज्य की के इस निर्णय से यह भी साबित होता है कि भाजपा  आरएसएस के कार्यकर्ताओं का जोश समाप्त हो गया है  Related image

लोगों को सरकारी योजनाओं की जानकारी नहीं- बीएसपी सुप्रीमो
उन्होंने बोला कि प्रथम दृष्ट्या यह गवर्नमेंट की विफलता है कि सरकारी खजाने के अरबों रूपए प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक तथा डिजिटल मीडिया पर खर्च करने के बावजूद लोगों को गवर्नमेंट की योजनाओं की जानकारी नहीं है नतीजतन जरुरतमंद लोगों को योजनाओं का फायदा नहीं मिल पा रहा है पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने बोला कि प्रदेश के हर विकास खण्ड में एक ‘लोक कल्याण मित्र‘ को 25 हजार रुपए तथा 5000 हजार रुपए प्रतिमाह यात्रा भत्ता के आधार पर नियुक्ति वास्तव में मजाक के साथ-साथ केवल कुछ चहेतों को वक्ती तौर पर तुष्टिकरण करने का तरीका मात्र ही है

युवाओं को नहीं मिल रही नौकरी- मायावती
मायावती ने बोला कि लोक कल्याण मित्रों की नियुक्ति का निर्णय यह भी साबित करता है कि प्रदेश राष्ट्र की मजदूर लोग आम जनता अब बीजेपी के शीर्ष नेतृत्व को न तो सुनना पसन्द कर रही है  न ही उनकी बातों पर भरोसा कर रही है उन्होंने बोला कि सरकारी स्तर पर खाली पड़े हजारों पदों को भरकर युवकों को रोजगार देने की कोई व्यवस्था नहीं की जा रही है जो नितान्त आवश्यक है मालूम हो कि प्रदेश की की मंत्रिपरिषद ने बीते मंगलवार को अपनी तमाम योजनाओं के प्रचार-प्रसार के लिए प्रदेश के हर विकास खण्ड में एक ‘लोक कल्याण मित्र‘ की नियुक्ति करने के प्रस्ताव को हरी झंडी दी थी

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *