Sunday , February 24 2019
Loading...
Breaking News

राफेल डील को खड़गे ने बताया घोटाला, कहा…

कांग्रेस को राफेल के तौर पर एक ऐसा मुद्दा मिल गया है जिसपर वह चौतरफा तरीके से मोदी गवर्नमेंटको घेर सकती है. इसलिए लगभग प्रतिदिन इसपर वह केंद्र गवर्नमेंट पर निशाना साधती रहती है.राहुल गांधी ने भी शनिवार को राफेल को लेकर पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए राष्ट्र के जवानों के खून को अपमानित करने का आरोप लगया था. वहीं अब कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे में पीएम का त्याग पत्र मांगा है.

मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, ‘फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांक्वा ओलांद ने इस बात को साफ कर दिया है कि पीएम का व्यक्तिगत कंपनी को राफेल का कांट्रैक्ट दिलवाने में हाथ है. इससे पता चलता है कि हमारे पीएम अपने दोस्त को डील पक्की करने के लिए फ्रांस लेकर गए. हम लगातार कह रहे हैं कि यह घोटाला है  पीएम ने उसकी (अनिल अंबानी) की मदद की है.

खड़गे ने आगे कहा, ‘यह मेरी व्यक्तिगत मांग है कि वह (पीएम नरेंद्र मोदी) इस पद के लिए उपयुक्त नहीं हैं  इसलिए उन्हें तुरंत त्याग पत्र दे देना चाहिए. उन्हें किसी कैबिनेट मंत्री को पीएम नियुक्त करना चाहिए. अब वह नैतिक आधार पर इस पद के योग्य नहीं हैं.

बता दें कि विवादित राफेल सौदे के विषय में फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांक्वा ओलांद ने दावा किया है कि अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस डिफेंस का नाम हिंदुस्तान गवर्नमेंट ने ही प्रस्तावित किया था. उनके राष्ट्रपति रहने के दौरान ही इस पर सहमति भी बन गई थी. हालांकि ओलांद ने इस सौदे से अपनी प्रेमिका जूली गयेट का संबंध होने से मना किया है.

ओलांद ने कहा, ‘अनिल अंबानी की रिलायंस डिफेंस को इस सौदे में शामिल करने में हमारी कोई किरदार नहीं थी. हिंदुस्तान गवर्नमेंट ने इस कंपनी का नाम प्रस्तावित किया  दसॉल्ट ने अंबानी से समझौता किया. हमारे पास कोई विकल्प नहीं था. मैं तो सोच भी नहीं सकता हूं कि इससे जूली गयेट की फिल्म का कोई संबंध भी हो सकता है.

एक मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया था कि 2016 में हिंदुस्तान में गणतंत्र दिवस समारोह में ओलांद के शामिल होने से दो दिन पहले ही अंबानी की रिलायंस एंटरटेनमेंट ने गयेट के साथ एक समझौता किया था. इसी यात्रा के दौरान हिंदुस्तान को 36 राफेल विमान सौंपने के लिए ओलांद ने पीएम नरेंद्र मोदी के साथ एक समझौता ज्ञापन (एओयू) पर हस्ताक्षर किया था.

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *