Saturday , October 20 2018
Loading...

कैग रिपोर्ट में हुआ बड़ा खुलासा, सपा गवर्नमेंट में खर्च हुए इतने हजार करोड़ रुपये का कोई हिसाब नहीं

लखनऊ: कैग रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि अखिलेश गवर्नमेंट में सरकारी योजनाओं के नाम पर करीब 97 हजार करोड़ रुपये का फर्जीवाड़ा किया गया था रिपोर्ट के मुताबिक, इतनी बड़ी धनराशि कब  कहां खर्च की गई उसके बारे में किसी भी विभाग के पास कोई जानकारी नहीं है रिपोर्ट में यह भी बोला गया है कि इनमें केवल पंचायती राज विभाग, समाज कल्याण विभाग  एजुकेशन विभाग में 26 हजार करोड़ रुपए खर्च किए गए

अगस्त में आई कैग रिपोर्ट में बोला गया है कि खर्च को लेकर महत्वपूर्ण प्रमाणपत्र नहीं होने के कारण करीब 97 हजार करोड़ रुपए का हिसाब नहीं मिल रहा है रिपोर्ट में बोला गया है कि 2014 से 31 मार्च 2017 के बीच करीब 2.5 लाख ऐसे कार्य हुए, जिसका प्रमाणपत्र उपलब्ध नहीं है शासन के सामने इस मामले को कई बार उठाया गया, लेकिन इस दिशा में सुधार के कोई कदम नहीं उठाए गए

Loading...

नियम के मुताबिक, जब किसी योजना के तहत विभागों को बजट जारी किया जाता है तो उस कार्य को लेकर समय सीमा भी तय की जाती है तय सीमा गुजरने के बाद संबंधित विभाग को यूटिलिटी सर्टिफिकेट जारी करना पड़ता है यह जिम्मेदारी बजट जारी करने वाले विभाग की है कि वह यूटिलिटी सर्टिफिकेट मांगे क्योंकि, इस सर्टिफिकेट के बिना बजट की दूसरी किश्त नहीं जारी की जा सकती है

loading...

कैग रिपोर्ट पर सपा प्रवक्ता सुनील साजन ने बोला कि कैग की रिपोर्ट का मतलब घोटाला नहीं होता है2G मामले में भी न्यायालय ने बाद में बोला था कि यह घोटाला नहीं था सपा प्रवक्ता ने यह भी बोला कि गुजरात  महाराष्ट्र में भी कैग की रिपोर्ट आई है, लेकिन दोनों जगहों पर भाजपा की गवर्नमेंट है इसलिए यहां घोटाला नहीं हुआ है

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *