Saturday , October 20 2018
Loading...

यूएन के रिपोर्ट के अनुसार संसार में हर तीसरा बच्चा हो रहा आॅनलाइन शोषण का शिकार

वाशिंगटन:​विश्व सहित हिंदुस्तान में बढ़ रहे इंटरनेट से होने वाले अपराध में ज्यादातर बच्चे ही इसका शिकार हो रहे हैं  अब ये सिद्ध भी हो गया है, दरअसल यूएन की एक रिपोर्ट के अनुसार संसार में हर तीन में से एक बच्चा इंटरनेट पर बदसलूकी का शिकार ​हो रहा है, जिससे इंटरनेट द्वारा बढ़ रहे अपराधों में लगातार वृद्धि होती जा रही है. यहां हम आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि राष्ट्रविदेश में इंटरनेट का चलन आजकल ​कुछ ज्यादा ही बढ़ गया है  समाज के हर वर्ग के साथ अब बच्चे भी इंटरनेट पर बहुत ज्यादा ज्यादा समय बिता रहे हैं.

जानकारी के अनुसार यूएन ने बच्चों पर एक शोध काम किया है जिसमें पाया गया है कि दुनियाभर में सबसे ज्यादा बच्चे ही इंटरनेट का प्रयोग कर रहे हैं  11 से 16 वर्ष के बच्चे इस दौरान बदसलूकी का शिकार हो रहे ​हैं वहीं करीब 13 करोड़ या उनसे भी अधिक बच्चे इंटरनेट पर मिल रही धमकी का शिकार हुए है. इसके अतिरिक्त 2010 की अपेक्षा 2014 में इंटरनेट से बढ़ने वाले क्राइम 12 फीसदीतक बढ़ गए हैं.

Loading...

गौरतलब है कि बच्चों के साथ दिन रोजाना क्राइम हो रहे हैं  इन अपराधों को देखते हुए यूएन के महासचिव ने बच्चों के विरूद्ध हो रही हिंसा के मामलों को गंभीर बताया है. इसके अतिरिक्त इंटरनेट पर किसी भी तरह का हिंसक बर्ताव होने से में भय बैठ जाता है जिसे वे अपने अंदर ही रख लेते हैं फिर भय की वजह से किसी को कुछ नहीं बता पाते.

loading...
Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *