Tuesday , November 20 2018
Loading...
Breaking News

राजनाथ ने कहा, अकेले दम पर अंजाम दिए जाने वाले आतंकी हमले हिंदुस्तान के लिए बड़ी चुनौती

आतंकवादियों से उत्पन्न खतरा राष्ट्र की सुरक्षा का सबसे जरूरी  बड़ा मुद्दा है जिस पर राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) के 34वें स्थापना दिवस समारोह में बल के जवानों को संबोधित करते हुए गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने बोला कि ‘‘लोन वुल्फ’’ यानी अकेले के दम पर तैयारी करके हमला करने वाले आतंकियों से उत्पन्न खतरा राष्ट्र की सुरक्षा एजेंसियों के लिए बड़ी चुनौती है.

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) के 34वें स्थापना दिवस समारोह में बोला कि 2008 में मुंबई में हुए आतंकी हमले के बाद सुरक्षा बलों ने बेहतरीन समन्वय दिखाया  सुनिश्चित किया है कि कोई बड़ा आतंकी हमला न हो.

Loading...

उन्होंने न्यूयॉर्क  लंदन में हुए हालिया हमलों का जिक्र किया, जिनमें कई लोगों को कुचलने  उनकी मर्डर करने के लिए वाहनों का प्रयोग किया गया. राजनाथ ने मानेसर स्थित एनएसजी की इकाई में कहा, ‘खुद ही सब कुछ करने वाले  ‘लोन वुल्फ’ जैसे आतंकी हमले हमारे लिए  सुरक्षा एजेंसियों के लिए बड़ी चुनौती हैं.

loading...

उन्होंने कहा, ‘हमें इसी मुताबिक तैयारी करनी होगी  अपनी तरकीबों में परिवर्तन लाना होगा, उन्हें अद्यतन करना होगा ताकि इन खतरों से निपटा जा सके.’ गृह मंत्री ने बोला कि आतंकवाद किसी राष्ट्रतक सीमित नहीं है, बल्कि यह संसार की समूची आबादी को प्रभावित करता है.

उन्होंने बोला कि सोशल मीडिया ने आतंकियों की विचारधारा के प्रसार में मदद की है. 2008 के बाद से राष्ट्र में कोई बड़ा आतंकी हमला नहीं होने देने के लिए एनएसजी  अन्य सुरक्षा बलों की तारीफ करते हुए राजनाथ ने बोला कि जम्मू व कश्मीर को ‘छोड़कर’ बाकी जगहों पर आतंकवाद या उग्रवाद पर काबू पाने में वे पास हुए हैं.

राजनाथ ने कहा, ‘हमने अभियान के लिए जम्मू व कश्मीर में एनएसजी की एक इकाई तैनात की है.’ मंत्री ने राज्य पुलिस बलों से भी बोला कि वह अपने बलों में आतंकवाद निरोधक क्षमता बढ़ाएं क्योंकि कोई हमला होने की सूरत में पहले उन्हें ही मुकाबला करना होता है.

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *