Tuesday , November 20 2018
Loading...
Breaking News

जयपुर: फिर से मिले जीका वायरस के 115 मरीज

जयपुर: राजधानी जयपुर में जीका वायरस के मरीजों का आंकड़ा थमने का नाम नहीं ले रहा है वहीं अब इस वायरस ने आपको सुरक्षा देने वाली खाकी को भी अपनी जद में ले लिया हैसमाचार के मुकाबिक 2 दिन पहले ही RPA परिसर में एक हेड कांस्टेबल के बेटे की डेंगू की चपेट में आने से मौत हो गई जिसके बाद अब RPA क्वार्टर में रहने वाली एक महिला कांस्टेबल जीका वायरस के चपेट में आ गई है

जिसके बाद लोकल पुलिस के परिवारों को भय सता रहा था कि कहीं फोगिंग के अभाव में उनके घर से भी कोई अगला शिकार ना हो जाए हालांकि जी राजस्थान न्यूज पर समाचार चलते ही फोगिंग की एक मशीन RPA परिसर में फोगिंग के लिए पहुंची साथ ही जीका पॉजिटिव पायी गई महिल कांस्टेबल मरीज के सरकारी क्वार्टर में भी सेहत विभाग की टीम पहुंची  छिडकाव किया

Loading...

बता दें कि जयपुर में जीका वायरस के मरीजों का आंकड़ा 115 के पार पहुंच चुका है अकेले राजपूत छात्रावास में 20 से ज्यादा पॉजिटिव केस आ चुके हैं इस बीच महकमे के मंत्री से लेकर सेहत विभाग के ऑफिसर जागरूकता के साथ-साथ सख्ती बरतने की बात कह रहे हैं अफसरों का शास्त्री नगर सिंधी कैंप में दौरा जारी हैं वहीं अब नए केस सामने आने के बाद विभाग का दायरा  दौड़-भाग भी बढ़ गई है

loading...

हालांकि विभाग का जागरूक करने का कोशिश उतना पास नहीं हो पा रहा है जितनी तेजी से जीकापैर परास रहा है शास्त्री नगर से निकलकर पहले ये वायरस सिंधी कैंप पहुंचा  अब राजधानी के दूसरे कोनों में भी पॉजीटिव केस सामने आए हैं हालांकि विभाग का दावा है कि पॉजीटिव केस में से तीन चौथाई केस अब संक्रमण से बाहर हैं लेकिन बढ़ते केस चुनौती का सबब बना हुआ है

वहीं जयपुर शहर में पिछले 3 हफ्ते में शास्त्रीनगर साहित प्रभावित क्षेत्रों में सेहत विभाग द्वारा लगातार व्यापक स्तर पर स्क्रीनिंग, सर्वे और एंटीलारवा कार्यवाही की जा रही है लगभग 330 टीमो द्वारा घर-घर जाकर सर्वे भी किए जा रहे हैं वहीं अब तक 1 लाख से अधिक घरों का सर्वेक्षण कर ढाई लाख से अधिक कंटेनर्स में एन्टीलार्वा कार्यवाही की गई है साथ ही बुखार पीड़ितों और गर्भवती स्त्रियों की चिकित्सकीय सलाह पर सैंपल लेकर जांच भी करवायी जा रही है

उधर, सेहत मंत्री ने जानकारी देते हुए बताया कि विभाग जीका प्रभावित शास्त्री नगर, विद्याधर नगर सिंधी कैंप के एरिया में एक लाख से ज्यादा घरों का सर्वे कर चुका है लगभग हजारों घरों में डेंगू का लार्वा नष्ट किया गया है विभाग ने जीका के कहर को देखते हुए अब टीमों की संख्या 300 से बढ़ाकर 330 कर दी है ये टीमें घर-घर जाकर बुखार के मरीजों की स्क्रीनिंग कर रही हैं  जांच के लिए सैंपल ले रही हैं

प्रदेश में जीका वायरस से 22 गर्भवती महिलाएं भी प्रभावित थी जो खतरे से बाहर हैं वहीं चिकित्सा मंत्री ने इस वायरस से ना घबराने की हिदायत दी है उन्होंने बताया कि स्कूलों के अतिरिक्त 15 कॉलेजों में भी संक्रमण से रोकथाम के तरीकों को बताने की मुहिम चलाई गई है

बहरहाल राजधानी में जीका के साथ मौसमी बीमारियां स्वाइन फ्लू, डेंगू, मलेरिया का भी कहर जारी है इन बीमारियों को लेकर सेहत मंत्री, मुख्य सचिव, एसीएस समीक्षा कर रहे है लेकिन आंकड़े लगातार बढ़ते जा रहे है अगर जल्दी ही इन बिमारियों को रोकने के लिए पुख्ता कदम नहीं उठाए गए तो दशा बिगड़ सकते हैं

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *