Tuesday , November 20 2018
Loading...
Breaking News

विजय हजारे ट्रॉफी : दूसरी ट्रॉफी के लिए दिल्ली हैं तैयार

बेंगलुरु: मुंबई  दिल्ली की क्रिकेट टीमों का सामना शनिवार को में होगा  मुंबई की नजरें अपने तीसरे खिताब पर होंगी दिल्ली अपने दूसरे खिताब की तलाश में उतरेगी हैदराबाद को 60 रन से मात देकर फाइनल में आने वाली मुंबई ने 2003-2004  2006-2007 में यह खिताब जीता था दिल्ली ने 2012-13 में खिताब पर कब्जा जमाया था उसने झारखंड को रोचक मुकाबले में 2 विकेट से शिकस्त देकर फाइनल की राह तय की है  

युवा पृथ्वी शॉ पर रहेगी नजर 
2015-16 में दिल्ली की टीम फाइनल में पहुंची थी, लेकिन गुजरात से पराजय गई थी मुंबई भी 2011-12 में उपविजेता रह चुकी है दोनों टीमों पर नजर डाली जाए तो मैच में मुंबई का पलड़ा भारी माना जा रहा है इसका कारण उसकी मजबूत  गहरी बल्लेबाजी है टीम में उन्होंने इस टूर्नामेंट के सिर्फ चार मैच खेले हैं  348 रन बना डाले हैं हाल ही में वेस्टइंडीज के विरूद्ध टेस्ट सीरीज में पदार्पण करने वाले इस युवा ने अपने बल्ले की चमक को विश्व भर में दिखाया है

Loading...

अय्यर  रहाणे भी फॉर्म में 
शॉ लौटकर हैदराबाद के विरूद्ध सेमीफाइनल में खेले  अर्धशतक जड़ा उनके अतिरिक्त कप्तान श्रेयस अय्यर भी फॉर्म में हैं अय्यर ने भी सेमीफाइनल में अर्धशतक जमाया था वे छह मैचों में 366 रन बना चुके हैं इन दोनों के अतिरिक्त इंडियन टेस्ट टीम के उप कप्तान अजिंक्य रहाणे भी फॉर्म में हैं टीम के पास सूर्यकुमार यादव  आदित्य तारे जैसे अनुभवी खिलाड़ी भी हैं गेंदबाजी में मुंबई को धवल कुलकर्णी से उम्मीदें होंगी शम्स मुलानी ने भी शानदार प्रदर्शन किया है  आठ मैचों में 16 विकेट ले चुके हैं

loading...

दिल्ली को गंभीर से कप्तानी पारी की आस 
दिल्ली टीम की ताकत भी उसकी बल्लेबाजी है उन्होंने नौ मैचों में 517 बनाए हैं फाइनल में अगर दिल्ली को जीत हासिल करनी है तो गंभीर को बल्ले के साथ-साथ कप्तानी वाली फॉर्म को भी बनाए रखना होगा गंभीर का अनुभव इस मैच में अंतर पैदा कर सकता है गंभीर के अतिरिक्त बल्लेबाजी में नीतीश राणे, उन्मुक्त चंद  ध्रुव शौरे का बल्ला भी अच्छा बोल रहा है गेंदबाजी में कुलवंत खेजरोलिया  नवदीप सैनी से दिल्ली को उम्मीदें होंगी

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *