Wednesday , November 14 2018
Loading...

ट्रंप ने कहा, प्रवासियों के काफिले में पश्चिम एशियाई, आपराधिक रैकेट के सदस्य शामिल

नई दिल्ली/वाशिंगटन : ने दावा किया है कि पश्चिम एशिया के लोग  एमएस -13 आपराधिक रैकेट के सदस्य अमेरिका की ओर बढ़ रहे शरणार्थियों के काफिले का भाग थे इन प्रवासियों में ज्यादातर होंडुरास के लोग थे उन्होंने सोमवार को बोला कि ‘‘पश्चिम एशियाई’’  उस आपराधिक रैकेट के सदस्य काफिले में लोगों के बीच घुसकर अमेरिका में प्रवेश करने की प्रयास कर रहे हैं

व्हाइट हाउस में ट्रंप ने संवाददताओं से कहा, ‘‘कैमरा उठाइए, उनके बीच जाइए  तलाश कीजिएआपको उनमें एमएस -13 के लोग मिलेंगे, आपको पश्चिम एशिया के लोग नजर आएंगे – आपको सबकुछ पता चल जाएगा  जरा सोचिए, हम उन्हें अपने राष्ट्र में आने की अनुमति नहीं दे रहे हैं हम सुरक्षा चाहते हैं ’’

Loading...

ट्रंप से जब पूछा गया कि पश्चिम एशियाइयों से उनका क्या मतलब है, तो उन्होंने संवाददाताओं से यह देखने के लिए काफिले तक जाने को कहा उन्होंने कहा, ‘‘मेरे पास समाचार है तथा समूह में उनके साथ  भी लोग हैं यह भयावह है हमें उन्हें सीमा पर ही रोकना है  दुर्भाग्यवश आप उन राष्ट्रों के बारे में सोचते हैं जिन्होंने अपना कार्य अच्छा से नहीं किया ’’

loading...

मारा साल्वात्रुचा या एमएस -13 ग्वाटेमाला, होंडुरास  अल साल्वाडोर में होने वाली हिंसक घटनाओं के लिए जिम्मेदार आपराधिक संगठनों में शामिल हैं ट्रंप ने बोला कि अमेरिका सहायता राशि के तौर पर होंडुरास, अल साल्वाडोर  ग्वाटेमाला को बहुत सारा पैसा देता है वे तीन राष्ट्र जहां से हजारों लोग अब अमेरिका की ओर बढ़ रहे हैं

उन्होंने कहा, ‘‘हर वर्ष हम उन्हें विदेशी सहायता देते हैं. उन्होंने हमारे लिए कुछ भी नहीं किया ’’ ट्रंप ने इससे पहले इन तीन लातिन अमेरिकी राष्ट्रों को सहायता रोक देने की धमकी दी थी जिसका कई सांसदों ने विरोध किया था

की समाचार के मुताबिक, उधर मैक्सिको के भावी विदेश मंत्री मार्सेलो एब्रर्ड ने मध्य अमेरिका से बाहर जा रहे प्रवासियों की विशाल संख्या को रोकने के लिए अपने गृह राष्ट्र में ही निवेश को बढ़ावा देने की प्रयास करने की बात कही है उन्होंने ओटावा की यात्रा के दौरान यह बात कही

उनका यह बयान ऐसे समय में आया है जब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप आए दिन इन राष्ट्रों से अमेरिका आ रहे प्रवासियों पर निशाना साधते रहते हैं हालांकि एब्रर्ड ने एंड्रेस मैनुअल लोपेज़ ओब्राडोर के एक दिसंबर को राष्ट्रपति पद की शपथ लेने के बाद मैक्सिको की प्रवासी नीति में “ठोस बदलाव” का वादा भी किया

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *