Wednesday , December 19 2018
Loading...
Breaking News

मालदीव में PM मोदी बहुत जल्द जगाएंगे दोस्ती की अलख

पीएम नरेंद्र मोदी ने मालदीव से आए निमंत्रण को स्वीकार कर लिया है. यह सादर निमंत्रण मालदीव ने पीएम नरेंद्र मोदी को अपने यहां इब्राहिम मोहम्मद सालेह की नव निर्वाचित गवर्नमेंट के 17 नवंबर को आयोजित शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए भेजा है. मालदीव हमारा सबसे निकट का हिंद महासागरीय एरिया का राष्ट्र है  हिंदुस्तान की सामुद्रिक एरिया से सुरक्षा को देखते हुए बहुत ज्यादा अहम जगह रखता है. इसलिए पीएम के इस फैसला को बहुत जरूरी माना जा रहा है.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने भी पीएम द्वारा निमंत्रण को स्वीकार किए जाने की पुष्टि की है. माना जा रहा है कि नयी गवर्नमेंट के गठन के बाद मालदीव में शांति  स्थिरता को बहुत ज्यादाबढ़ावा मिलेगा. इंडियन रणनीतिकार इसे नयी दिल्ली के पक्ष में मान रहे हैं. उनका अनुमान है कि सालेह गवर्नमेंट के सत्ता में आने के बाद मालदीव में सक्रिय हुए हिंदुस्तान विरोधी तत्वों को नियंत्रण में रखा जा सकेगा.

Loading...

भारत  मालदीव

loading...

मालदीव द्वीपों का राष्ट्र है. केरल के समुद्र तट से इसकी दूरी 250-300 मील की दूरी पर इसकी सीमाएं प्रारम्भ हो जाती हैं. यह 26 द्वीपों का समूह है  दो-ढाई घंटे की हवाई यात्रा से यहां पहुंचा जा सकता है. सामरिक दृष्टिकोण से मालदीव का बहुत ज्यादा महत्व है. यहां से हिन्द महासागर एरिया में इंडियन समुद्र तटों तक सीधी निगरानी रखी जा सकती है.

इसलिए हिंदुस्तान  मालदीव का रिश्ता रणनीतिक दृष्टि से हमेशा से महत्व का रहा है. हिंदुस्तानहमेशा मालदीव को सहायता भी देता आया. युद्धपोत, हेलीकाप्टर, रेडार आदि.  मालदीव की शांति स्थिरता हिंदुस्तान के लिए मायने रखती है. पिछले कुछ वर्ष से मालदीव में प्रारम्भ हुए अनिश्चितता के वातावरण ने नयी दिल्ली की चिंता बढ़ा दी थी.

प्रधानमंत्री दे सकते हैं सौगात

राष्ट्रपति सालेह के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के बाद पीएम मालदीव को सौगात दे सकते हैं.वह हिंदुस्तान द्वारा मालदीव की शांति, स्थिरता तथा उसके विकास में हिंदुस्तान के सहयोग की पहल कर सकते हैं. सूत्र बताते हैं कि विदेश मंत्रालय के ऑफिसर मालदीव को लेकर बहुत ज्यादासंवेदनशील हैं. हिंदुस्तान का हमेशा से मानना है कि शांतिपूर्ण  स्थिर मालदीव एरिया के लिए आवश्यक है. इसे देखते हुए पीएम मोदी मालदीव को कुछ आर्थिक सहायता देने का भी प्रस्ताव कर सकते हैं.

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *