Wednesday , December 19 2018
Loading...
Breaking News

हरेंद्र सिंह ने कहा, के विरूद्ध मैच हमारे लिए प्री-क्वार्टरफाइनल की तरह

भुवनेश्वर: भारतीय हॉकी टीम के मुख्य कोच हरेंद्र सिंह ने बोला कि में रविवार (2 दिसंबर) को बेल्जियम के विरूद्ध होने वाला मुकाबला घरेलू टीम के लिए लगभग ‘प्री क्वार्टरफाइनल’ की तरह ही हैहिंदुस्तान को पूल सी में मौजूदा ओलंपिक सिल्वर मेडल विजेता बेल्जियम, दक्षिण अफ्रीका  कनाडा के साथ रखा गया है  तालिका में शीर्ष पर रहने वाली टीम सीधे अंतिम दौर के लिए क्वालीफाई कर लेगी हिंदुस्तान ने शुरुआती पूल मैच में दक्षिण अफ्रीका को 5-0 से रौंदा था  बेल्जियम ने कनाडा को 2-1 से पराजित किया था मेजबान टीम को क्वार्टरफाइनल में जगह सुनिश्चित करने के लिए क्रास-ओवर से बचने के लिए बेल्जियम पर जीत की दरकार है  

टूर्नामेंट के प्रारुप के अनुसार चारों पूल में शीर्ष पर रहने वाली टीम सीधे क्वार्टरफाइनल में प्रवेश कर लेंगी जबकि दूसरे  तीसरे जगह पर रहने वाली टीम अंतिम आठ दौर में स्थान बनाने के लिए क्रॉस-ओवर मुकाबले खेलेंगी कोच हरेंद्र सिंह ने मैच से पूर्व आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ”मुझे कोई दबाव नहीं लगता अगर आप इस दबाव का लुत्फ उठाओगे तो आपको सफलता मिलेगी मुझे लग रहा है कि कल हमारा प्री क्वार्टरफाइनल मैच है  अगर हमें सीधे क्वार्टरफाइनल में प्रवेश करना है तो हमें इसमें जीत हासिल करनी ही होगी ”

Loading...

उन्होंने कहा, ”हमने अपनी टीम की मीटिंग में इस पर चर्चा की है  हम एक बार में एक ही मैच पर ध्यान लगायेंगे ” साल 2013 के बाद से हिंदुस्तान का बेल्जियम के विरूद्ध रिकॉर्ड अच्छा नहीं है, उसने इसके विरूद्ध केवल पांच मैच में जीत दर्ज की है, उसे 13 मौकों पर हार का मुंह देखना पड़ा है लेकिन एक मुकाबला ड्रा रहा था बेल्जियम से मिलने वाली चुनौती के बारे में पूछने पर हरेंद्र ने बोलाकि हिंदुस्तान को जीत हासिल करने के लिए अपनी पूरी ताकत से खेलना होगा उन्होंने कहा, ”अगर आप पिछले चार-पांच सालों के ग्राफ को देखोगे तो बेल्जियम की टीम बहुत ज्यादा अच्छी है हमें दशाके अनुसार खेलना होगा ”

loading...

हरेंद्र ने कहा, ”पिछले पांच-छह महीनों में इंडियन टीम आक्रामक हॉकी खेल रही है जो हमारा हथियार होगा  हम इससे समझौता नहीं करेंगे ” उन्होंने कहा, ”हमें इस बात का ध्यान रखना होगा कि बेल्जियम के खेलने की शैली अलग है, वह हॉकी स्टिक लंबवत करके खेलती है वे समांनातर स्टिक रखकर हॉकी नहीं खेलते इसलिए हमें इस पर ध्यान देना होगा ”

बेल्जियम के विरूद्ध हिंदुस्तान को रहना होगा चौकस 
हिंदुस्तान के लिए यह मैच सरल नहीं होगा वर्ल्ड नंबर-3 बेल्जियम का खेल हिंदुस्तान से बेहतर रहा है यह टीम अपने आक्रामक खेल के लिए जानी जाती है हिंदुस्तान में हालांकि बेल्जियम को मात देना का माद्दा है पहले मैच में बेल्जियम ने कनाडा को 2-1 से मात दी थी पहले मैच में सिमरनजीत ने हिंदुस्तान के लिए दो गोल किए थे जबकि मंदीप, आकाशदीप  ललित उपाध्याय ने एक-एक गोल किया था बेल्जियम के डिफेंस के सामने यह चारों अपनी फॉर्म को बनाए रख पाते हैं या नहीं यह मैच के दिन पता चलेगा

बेल्जियम के डिफेंस में ऑर्थर वॉन डोरेन, गोउथियेर बोकार्ड,  ऑर्थर डे स्लूवर जैसे अनुभवी डिफेंडर हैं इन तीनों के पास 150-150 से ज्यादा मैचों का अनुभव है जो हिंदुस्तान के लिए खतरनाक हो सकता है गोलकीपर विसेंट वानश्च भी 201 मैचों का अनुभव लिए हुए हैं ऐसे में हिंदुस्तान के फॉरवर्ड आकाशदीप, गुरजंत सिंह, मंदीप  दिलप्रीत के लिए यह कड़ी इम्तिहान होगी

वहीं, इंडियन डिफेंस में हरमनप्रीत सिंह, गुरिंदर सिंह, वरुण कुमार, कोथाजीत सिंह को अहम किरदारनिभानी होगी क्योंकि बेल्जियम की आक्रमण पंक्ति का नेतृत्व अनुभवी कप्तान थॉमस ब्रील्स के जिम्मे है यहां वह अकेले नहीं है उनके साथ फ्लोरेंट वान एयुबेल, टॉम बून जैसे नाम हैं बेल्जियम के खिलाड़ियों के लिए हिंदुस्तान के गोलकीपर पी आर श्रीजेश सबसे बड़ा खतरा साबित हो सकते हैंश्रीजेश को संसार के सर्वश्रेष्ठ गोलकीपरों में गिना जाता है बेल्जियम के कोच शेन मैक्लोड निश्चित इस बात पर ध्यान देंगे

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *