Saturday , March 23 2019
Loading...

दिलीप टर्की ने कहा, विश्व कप में इतिहास दोहराने का स्वर्णिम मौका गंवा दिया

नई दिल्ली : इंडियन हॉकी टीम के पूर्व कप्तान दिलीप टिर्की ने रविवार को बताया कि हिंदुस्तान ने हाल ही में ख़त्म हुए हॉकी विश्व कप में इतिहास दोहराने का स्वर्णिम मौका गंवा दिया  इसके साथ ही उन्होंने विश्वस्तरीय ड्रैग फ्लिकर्स तैयार करने पर जोर दिया रूपिंदर पाल सिंह की अनुपस्थिति में हिंदुस्तान के पास हरमनप्रीत, अमित रोहिदास  वरूण कुमार के रूप में तीन ड्रैग फ्लिकर्स थे लेकिन उनका पेनल्टी कॉर्नर को गोल में बदलने की दर केवल 30.7 फीसदी थी

पेनल्टी कॉर्नर को गोल में बदलना होगा

टिर्की ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा, ‘हमें विश्वस्तरीय ड्रैग फ्लिकर्स की आवश्यकता है हमारे पास अभी हरमनप्रीत, अमित रोहिदास  वरूण हैं हमें उन पर ध्यान देने की आवश्यकता है हमें जरूरी मैचों में 60 से 70 फीसदी पेनल्टी कॉर्नर को गोल में बदलना होगा ’ हिंदुस्तान अपने पूल में शीर्ष पर रहा था लेकिन वह क्वार्टर फाइनल में नीदरलैंड से 1-2 से पराजय गया था टिर्की ने बोला कि युवा खिलाड़ी उम्मीदों पर खरे नहीं उतरे

प्राप्त जानकारी अनुसार टर्की ने कहा, ‘मुझे लगता है कि हमारे युवा खिलाड़ी अपने क्षमता के अनुसार प्रदर्शन नहीं कर पाए बाकी टीम का प्रदर्शन बहुत अच्छा था टैकलिंग अच्छी थी दुर्भाग्य से हम क्वार्टर फाइनल में उम्मीदों के अनुरूप प्रदर्शन नहीं कर पाए कुल मिलाकर यह अच्छा प्रदर्शन थामुझे लगता है कि हमने विश्व कप जीतने का मौका खो दिया

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *