Sunday , May 26 2019
Loading...

Shooting: जसपाल राणा ने कहा कि मेडल जीतने हैं तो फोन बंद रखो व अनुशासित बनो

नई दिल्ली: भारत में इन दिनों आईएसएसएफ चल रहा है टूर्नामेंट के पहले दो दिन हिंदुस्तान ने गोल्ड मेडल जीते लेकिन इसके बाद वह पदक हासिल नहीं कर सका है हिंदुस्तान को युवा निशानेबाजों मनु भाकर  अनीश भानवाला से बड़ी उम्मीदें थीं, लेकिन वे इस पर खरे नहीं उतरे इस निराशाजनक प्रदर्शन के बाद हिंदुस्तान के जूनियर निशानेबाजी कोच जसपाल राणा (Jaspal Rana) ने अपने शिष्यों को अभिनव बिंद्रा के नक्शेकदम पर चलने तथा ‘फोन बंद रखने  सोशल नेटवर्किंग से दूर रहने’ के लिए कहा  

17 वर्ष की स्त्रियों के 25 मीटर पिस्टल इवेंट में मेडल जीतने में नाकाम रहीं जबकि, 16 वर्ष के अनीश भानवाला (Anish Bhanwala) पुरुषों के 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल में पांचवें नंबर पर रह गए अब इन खिलाड़ियों को ओलंपिक कोटा हासिल करने के लिए अगले विश्व कप तक इंतजार करना होगा

जसपाल राणा ने इंडियन निशानेबाजों के निराशाजनक प्रदर्शन के सवाल पर कहा, ‘वे जो अनुशासित हैं  जो किसी अन्य वस्तु में लिप्त नहीं है वे अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं हमें निशानेबाजों की अच्छी तरह से देखरेख करने की आवश्यकता है क्योंकि यह पहला कदम है कोटा हासिल करना कठिन नहीं है, लेकिन हम अब ओलंपिक के बारे में बात कर रहे हैं इस वर्ष के आखिर तक हमें बहुत ज्यादाप्रतियोगिताओं में भाग लेना है  हमारे पास बहुत ज्यादा कोटा जगह होंगे ’

हाल के सालों में युवा निशानेबाजों की सफलता में अहम किरदार निभाने वाले जसपाल राणा ने उम्मीद जताई कि यहां का निराशाजनक प्रदर्शन उन खिलाड़ियों के लिए सबक होगा, जो अपनी जीत तय मानकर चलते हैं चयन टकराव के कारण राणा विश्व कप से पहले के राष्ट्रीय शिविर का भाग नहीं थे उनसे पूछा गया कि क्या शिविर में उनकी अनुपस्थिति से किसी तरह का अंतर पैदा हुआ हैउन्होंने कहा, ‘मेरे शिविर में होने या न होने से कोई अंतर पैदा नहीं होने जा रहा है इस परिणाम के भी कुछ सकारात्मक पहलू हैं लोग अब अपनी जीत तय मानकर नहीं चलेंगे ’

जसपाल राणा ने बोला कि युवा निशानेबाजों को असफलता के बाद वापसी करने की सीख लेने की आवश्यकता है उन्होंने कहा, ‘इन युवा खिलाड़ियों को सिखाया जाना चाहिए कि वापसी कैसे करनी है अगर वे पिछड़ जाते हैं  वापसी नहीं कर पाते हैं तो यह आदत नहीं बननी चाहिए हमें इस पर कार्य करना होगा ’ राणा ने कहा, ‘मानव (मानवजीत सिंह संधू), अभिनव बिंद्रा क्या करते थे वे कड़ा एक्सरसाइज करते थे वे कमांडो ट्रेनिंग लेते थे चोटों के बावजूद उन्होंने कड़ी मेहनत की अब भी इसकी आवश्यकता है ’

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *