Sunday , May 26 2019
Loading...

इमरान खान का झूठा बयान, कहा-आतंक के लिए नहीं होने देंगे अपनी जमीन का इस्तेमाल

नई दिल्ली/इस्लामाबाद : जम्मू व कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ पर हुए आतंकी हमले के बाद वैश्विक स्तर पर आलोचनाओं का सामना कर रहे पाक ने आखिरकार आतंकवाद के विरूद्ध कार्रवाई करने का निर्णय लिया है ने बोला कि पाक की धरती को आतंकवाद के लिए प्रयोग नहीं करने दिया जाएगा

जियो न्यूज के अनुसार, इमरान खान ने बोला कि उनकी गवर्नमेंट राष्ट्र में किसी भी हथियारबंद समूह को कार्य नहीं करने देगी खान ने थारपारकर जिले में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा, “राष्ट्रीय कार्ययोजना (एनएपी) के तहत हम पाक में किसी भी हथियारबंद समूह को अनुमति नहीं देंगे कोई राष्ट्र ऐसा नहीं करता है पाक की सभी पार्टियों ने यह फैसला लिया है जब से हमारी गवर्नमेंट सत्ता में आई है, हमने तय किया कि एनएपी को लागू करेंगे ”

पुलवामा हमले के बाद पाक पर बना वैश्विक दवाब
इमरान की टिप्पणी ऐसे समय में आई है, जब पाक स्थित जैश-ए-मोहम्मद द्वारा 14 फरवरी के पुलवामा हमले की जिम्मेदारी लेने के बाद नयी दिल्ली  इस्लामाबाद के बीच तनाव बढ़ गया है इस हमले में सीआरपीएफ के 40 मारे गए थे पुलवामा हमले के बाद अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने इस्लामाबाद पर दबाव बनाया है कि वह अपनी धरती पर मौजूद आतंकी समूहों के विरूद्ध कार्रवाई करे

मसूद अजहर समेत 42 लोगों की हुई गिरफ्तारी
इसके बाद पाक ने इस हफ्ते के प्रारंभ में आतंकी समूहों के विरूद्ध कार्रवाई प्रारम्भ की  जैश के मसूद अजहर के भाई  बेटे को प्रतिबंधित आतंकवादी समूहों से संबद्ध अन्य 42 लोगों के साथ अरैस्टकर लिया पाक ने बोला कि कानून प्रवर्तन एजेंसियों ने 121 लोगों को एहतियातन गिरफ्तार किया है  आतंकवादी समूहों पर अपनी लगातार कार्रवाई के हिस्से के रूप में 182 मदरसों को जब्त कर लिया है

इमरान खान ने पाक में अल्पसंख्यकों की सुरक्षा के बारे में भी बात की  बोला कि उनका राष्ट्रअल्पसंख्यकों के साथ खड़ा है, जबकि हिंदुस्तान में अल्पसंख्यकों को निशाना बनाया जा रहा हैउन्होंने बोला कि उनकी गवर्नमेंट पाक में अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय के लोगों के साथ खड़ी है उनके साथ किसी तरह के अन्याय को बर्दाश्त नहीं करेगी इमरान ने कहा, “इस पाक में यह सुनिश्चित कराना हमारी जिम्मेदारी है कि अल्पसंख्यक समान नागरिक हैं  उनके साथ भेदभाव नहीं किया जाएगा “

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *