Sunday , May 26 2019
Loading...

कांग्रेस पार्टी ने स्मृति ईरानी पर लगाया सांसद निधि के गलत प्रयोग का आरोप, कहा…

कांग्रेस ने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी पर सांसद निधि को लेकर गंभीर वित्तीय अनियमितताएं बरतने का आरोप लगाया  बोला कि पीएम नरेंद्र मोदी को उन्हें मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर देना चाहिए. पार्टी ने यह भी बोला कि इस मामले में स्मृति के विरूद्ध करप्शन निरोधक कानून के तहत मामला दर्ज किया जाए. कांग्रेस पार्टी के इस आरोप पर फिल्हाल स्मृति  बीजेपी की ओर से कोई रिएक्शन नहीं आई है.

कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता शक्ति सिंह गोहिल ने संवाददाताओं से बोला कि मोदी जी  उनके करीबी करोड़ों से कम खाते नहीं  ईमानदार लोगों को चैन से रोटी खाने नहीं देते. उन्होंने दावा किया कि यह जानकारी गुजरात में आणंद जिले के कलेक्टर के लिखे लेटर  कैग की जांच से सामने आई. स्मृति ईरानी ने गांव को मिलने वाले पैसे खुद की जेब में डालने के लिए एक गांव गोद लिया.

गोहिल ने बोला कि सांसद निधि को लेकर स्पष्ट गाइडलाइन है कि आप कॉन्ट्रैक्ट किसी को भी दे सकते हैं. लेकिन क्रियान्वयन एजेंसी गवर्नमेंट होती है. स्मृति जी ने फोन कर शारदा मेहनतकश लोगकामदार सहकारी मंडली नामक सहकारी संस्था को क्रियान्वयन का कॉन्ट्रैक्ट दिलवाया.

उन्होंने बोला कि गाइडलाइन के मुताबिक, 50 लाख रूपये से ज्यादा का किसी को कॉन्ट्रैक्ट नहीं दिया जा सकता. लेकिन स्मृति ईरानी ने करोड़ों का कॉन्ट्रैक्ट दिलवाया. इस संस्था को करीब छह करोड़ रुपये का भुगतान किया गया.

गोहिल ने दावा किया कि कलेक्टर ने जांच कराई तो पाया कि कार्य कुछ नहीं हुआ, सिर्फ पैसा खाया गया. कैग ने इसका गंभीरता से संज्ञान लिया  रिकवरी की बात की. साथ ही गोहिल ने यह भी बोलाकि चुनाव नजदीक है  अगर थोड़ी भी नैतिकता बची है तो स्मृति त्याग पत्र दें. मोदी जी, थोड़ी अंतरात्मा जग जाए तो इन्हें बर्खास्त करें.

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने बोला कि गंभीर वित्तीय अनियमितता के लिए स्मृति को बर्खास्त करने के साथ ही उनके विरूद्ध करप्शन निरोधक कानून के तहत मामला दर्ज किया जाए.

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *