Wednesday , May 23 2018
Loading...

धर्म कर्म

सभी कष्टों को दूर करते है मेहंदीपुर के बालाजी

आज हनुमान जयंती है। समूचे राष्ट्र में विभिन्न हनुमान मंदिरों की छटा आज देखने लायक है। बाबा का हर दरबार चाहे वो कही भी स्थित हो आज भक्तों से पटा हुआ है। सुन्दरकाण्ड के पाठ, हनुमान चालीसा की गूंज, मंत्रोच्चार व जय हनुमान, जय श्रीराम के जयघोष से सारा माहौल धर्ममय हो गया है। राष्ट्र भर में बाबा के ...

Read More »

महादेव और मोहिनी के पुत्र है हनुमान

इंदौर: आज हर स्थान हनुमान जयंती का पर्व मनाया जा रहा है। शास्त्रों में हनुमान जी की जन्मतिथि को लेकर मतभेद हैं। कुछ शास्त्र हनुमान जी का जन्मोत्सव कार्तिक कृष्ण चतुर्दशी को मानते हैं और कुछ शास्त्र चैत्र शुक्ल पूर्णिमा को मानते हैं। वास्तविकता में चैत्र पूर्णिमा हनुमान जी का जन्मदिवस है और कार्तिक कृष्ण चतुर्दशी हनुमान जी का विजय ...

Read More »

जाने क्यों इस मंदिर में वर्जित है महिलाओं का प्रवेश

आज हम एक ऐसे मंदिर के संबंध में बात करेंगें जहां आज भी महिलाओं का जाना वर्जित है।यह मंदिर साल में केवल 3 माह- नवम्बर, दिसम्बर, जनवरी में ही आम भक्तों के लिए खुला होता है। बाकी समय इसे आम भक्तों के लिए बंद कर दिया जाता है। केरल राज्य की राजधानी तिरुवनंतपुरम से लगभग 175 किलो मीटर ...

Read More »

सूर्य देव के रथ के कारण होती है दिन और रात की पहचान

ऐसा है सूर्य का रथ जिस रथ के चलने से आप दिन व रात को पहचानते हैं सूर्य देव के उस रथ का विस्तार नौ हजार योजन है. इससे दुगुना इसका ईषा-दण्ड यानि जूआ व रथ के बीच का भाग है. रथ का धुरा डेढ़ करोड़ सात लाख योजन लम्बा है, जिसमें पहिया लगा हुआ है. इस ...

Read More »

दो नहीं एक ही पुत्र को जन्म दी थी माँ सीता

रामायण के बारे में तो वैसे सभी जानते हैं. रामायण के माध्यम से ही लोगो को ईश्वर राम के बारे में पता चलता है, उनके ज़िंदगी में घटित हुई घटनाओं का वर्णन हमें रामायण से ही मिलता हैं. लेकिन व भी बहुत सी बातें है, जिनसे हो सकता है कि आप भी अंजान हो. आज हम आपसे रामायण काल ...

Read More »

जाने क्यों विभीषण थे हनुमान जी को प्रिय

राम भक्‍त होने के कारण थे प्रिय सबसे पहली बात तो ये है कि हनुमान जी को वो हर प्राणी प्रिय है जो उनके आराध्‍य श्री राम का भक्‍त है. यही वजह है कि जब हनुमानजी लंका का दहन कर रहे थे तब उन्होंने अशोक वाटिका को नहीं जलाया था, क्योंकि ...

Read More »

रविवार के दिन भूलकर भी न तोड़ें तुलसी पत्ती नहीं तो…

सप्ताह के सातो दिन किसी न किसी वस्तु के लिए जरूरी होते हैं, हर दिन का अपना अलग महत्व होता है. ऐसे ही अगर रविवार की बात करें, तो यह ईश्वर सूर्य देव को समर्पित है.लेकिन आज हम यहां पर ईश्वर सूर्य देव की बात नहीं कर रहे बल्कि एक ऐसी खास बात पर चर्चा करने वाले हैं, जिसके ...

Read More »

भक्तों के संकटों को दूर करता है ये 11 मुखी हनुमान मंदिर

संकट मोचन हनुमान अपने सारे भक्तों के संकटों को हर लेते हैं, जो भी मनुष्य उनकी सच्चे मन से भक्ति करता है, वह निश्चित ही कई संकटो से मुक्त हो जाता है. आज हम आपसे ईश्वरबजरंग बलि के एक ऐसे मंदिर के बारे में चर्चा करने वाले हैं, जो राष्ट्र काएक मात्र ग्यारहमुखी हनुमानमंदिरहै. जी ...

Read More »

जाने भगवान विष्णु से जुड़े इन रहस्य के बारे में

धार्मिक मान्यता के अनुसार हर ईश्वर का अपना अलग महत्व है. ईश्वर विष्णु की अगर बात करें, तो यह हमेशा शेषनाग के ऊपर आशित दिखाई देेते है. वहीं इनके चार हांथ व उनमें ज्वेलरी नजर आता है. क्या आप जानते है?भगवान विष्णु के इन चार हाथ व उनकी वेशभूषा का क्या महत्व है. आज हम आपसे कुछ इसी सिलसिले पर चर्चा करने वाले ...

Read More »

जाने क्यों भगवान शिव को बोला जाता है नीलकंठ

भगवान शिव की अगर बात करें तो यह देवो के देव महादेव के नाम से भी जाने जाते है. ईश्वरभोलेनाथ अन्य देवता से बहुत भोले हैं व इसलिए यह अपने भक्त की भक्ती से जल्दी प्रसन्न हो जाते है. इनकी भक्ति करना भी ज्यादा मुश्किल नहीं हैं. लेकिन इनसे जुड़ी बहुत सी ऐसी बातें है, जिनके बारे ...

Read More »