Breaking News

लेख विचार

राहुल की चुनौतियां और मौके

नीरजा चैधरी (वरिष्ठ पत्रकार) कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी का कांग्रेस बनना अब लगभग तय है| काफी अरसे से राहुल गांधी को कांग्रेस की कमान संभालने की बात पार्टी कार्यकर्ता और नेता करते आ रहे थे, जिस पर अब विराम सा लग गया है| हालांकि, अध्यक्ष पद के लिए नामांकन ...

Read More »

रविशंकर जी, और भी गम हैं अयोध्या में!

कृष्ण प्रताप सिंह क्या पता इस माहौल का असर है या कुछ और कि कोई भी उन्हें गम्भीरता से नहीं ले रहा| न वे जिनका उक्त विवाद से नजदीक या दूर का कोई रिश्ता है या रहा है और न ही वे, जिनका उससे कभी कोई वास्ता नहीं रहा| रामविलास ...

Read More »

भारत की क्रेडिट रेटिंग में मूडीज द्वारा सुधार

डॉ. हनुमंत यादव सवाल उठता है कि क्या क्रेडिट रेटिंग में सुधार से शेयर बाजार में आई तेजी अधिक समय तक कायम रहेगी? इस संबंध में मेरा विचार है कि इसका प्रभाव अल्पकालिक रहने वाला है| शेयर बाजार में तेजी कम्पनियों के कामकाज के परिणामों पर निर्भर करेगी| सबसे महत्वपूर्ण ...

Read More »

उत्पीड़न के खिलाफ आवाज

आकार पटेल (कार्यकारी निदेशक, एमनेस्टी इंटरनेशनल इंडिया) पांच अक्तूबर को न्यूयॉर्क टाइम्स में हॉलीवुड फिल्म निर्माता हार्वे विंसटेन द्वारा किये गये यौन उत्पीड़न के बारे में खबर छपी थी| इस समाचार पत्र ने उन अभिनेत्रियों का हवाला दिया था, जिन्होंने फिल्म उद्योग के सबसे ज्यादा शक्तिशाली लोगों में से एक ...

Read More »

स्वदेशी अवलेह की संतान हलवा

जिस हलवा को हम खास अपना सगा समझते हैं, वह कोई 15-16 सौ साल पहले अरबों के साथ संभवतः पहले-पहल मालाबार तट पर पहुंचा था| शक्कर की चाशनी में किसी अनाज, फल या सब्जी के विलय से ही हलवा तैयार होता है| कुछ विद्वानों ने सुझाया है कि हलवे का ...

Read More »

बड़ा कवि और बड़ा मनुष्य

रविभूषण (वरिष्ठ साहित्यकार) बड़ा मनुष्य ही बड़ा कवि भी हो सकता है- जैसे निराला, मुक्तिबोध और कुंवर नारायण| अन्य कई नाम हैं (हो सकते हैं), पर सच है कि कुंवर नारायण (19 सितंबर, 1927- 15 नवंबर, 2017) के निधन के पश्चात फिलहाल हिंदी में ऐसा और कवि दिखायी नहीं देता, ...

Read More »

आस्था के केंद्रों पर वाजिब चिंता

आशुतोष चतुर्वेदी नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) इन दिनों चर्चा में है| लेकिन दिल्ली में प्रदूषण को लेकर दिल्ली सरकार के संदर्भ में उसकी चर्चा ज्यादा हो रही है| लोगों का ध्यान वैष्णो देवी को लेकर उसके फैसले की ओर कम गया है| हाल में एनजीटी ने वैष्णो देवी मंदिर दर्शन ...

Read More »

राफेल विमान खरीद में स्थिति साफ करे सरकार

राजेश माहेश्वरी गुजरात में चुनावी सरगर्मियां के साथ रक्षा सौदों के विवाद की आंच तेज हो रही| मोदी सरकार की फ्रेंच कंपनी राफेल से 36 लड़ाकू विमानों की खरीद के सौदे को कांग्रेस चुनाव में हथियार बना रही है| राफेल सौदा 2014 में सत्तारूढ़ हुई मोदी सरकार का ऐसा फैसला ...

Read More »

पप्पू पास नहीं हुआ

गुजरात में निर्वाचन आयोग (ईसी) ने भारतीय जनता पार्टी के टेलीविजन चुनाव प्रचार अभियान में पप्पू शब्द के इस्तेमाल पर रोक लगा दी है| निर्वाचन आयोग को प्रचार अभियान में पप्पू शब्द पर आपत्ति है| उसे लगता है कि इसके जरिये कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को अप्रत्यक्ष तरीके से निशाना ...

Read More »

ये कहां आ गए हम?

ये कहां आ गए हम? देश के मौजूदा वैचारिक, सामाजिक हालात पर हर सजग नागरिक को यह सवाल करना चाहिए| फिलहाल यह सवाल किया है सिने अभिनेत्री दीपिका पादुकोण ने| अपनी नयी फिल्म पद्मावती के रिलीज में आ रही बाधाओं, विरोध-प्रदर्शनों से दीपिका खिन्न हैं, और उनके साथ-साथ वे तमाम ...

Read More »