Tuesday , November 20 2018
Loading...
Breaking News

लेख विचार

संन्यासी नेताओं की भूमिका

आगामी चुनाव में संन्यासी नेताओं की भारी मांग उत्पन्न हो रही है| यह एक सुखद संदेश है| संन्यासी मूल रूप से संसार से विरक्त हो चुका होता है और वह निष्पक्ष रूप से समाज की समस्याओं पर विचार कर सकता है| इसलिये हम मान सकते हैं कि संन्यासी नेता द्वारा ...

Read More »

मेरा चुनावी घोषणापत्र

ललित सुरजन  जैसे तीज-त्योहार में कुछ रस्मों का पालन करना लगभग अनिवार्य माना जाता है, वैसे ही आम चुनावों के समय विभिन्न राजनीतिक दलों द्वारा घोषणापत्र जारी करना भी एक अनिवार्य कर्मकांड बन गया है| यह कोई अटपटी बात नहीं है| आम चुनाव लोकतंत्र का सबसे बड़ा त्योहार है, तो ...

Read More »

लागू हो राष्ट्रीय स्वच्छ वायु कार्यक्रम

अविनाश कुमार चंचल तीस अक्तूबर से 1 नवंबर, 2018 तक जेनेवा में विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) वायु प्रदूषण और स्वास्थ्य पर पहली बार वैश्विक सम्मेलन आयोजित हुआ| इस सम्मेलन का थीम- ‘वायु गुणवत्ता में सुधार, जलवायु परिवर्तन से निबटना और जिंदगियों को बचाना’ था| सम्मेलन में दुनियाभर के देशों की ...

Read More »

बिहार और उप्र के प्रवासी मजदूर आखिर कहां जाएं?

डा. गौरीशंकर राजहंस पिछले दिनों गुजरात में जिस तरह से बिहार और उत्तर प्रदेश के प्रवासी मजदूरों को तंग करके पलायन करने के लिए मजबूर किया गया वह वास्तव में एक गंभीर समस्या है| यदि किसी एक व्यक्ति ने कोई जघन्य अपराध किया था तो उसे तुरन्त जेल में डालना ...

Read More »

नेताजी बोस, नेहरू और उपनिवेश विरोधी संघर्ष

राम पुनियानी यदि आधुनिक भारत एक धर्मनिरपेक्ष और लोकतांत्रिक राष्ट्र है तो उसमें देश में चले उपनिवेश विरोधी संघर्ष का प्रमुख योगदान है| विभिन्न राजनैतिक विचारधाराओं वाले लोग इस संघर्ष में शामिल हुए और सभी ने अपने-अपने तरीके से भारत को अंग्रेजों से मुक्त कराने के इस अभियान में योगदान ...

Read More »

भारत को दस वर्षों के लिए एक मजबूत सरकार चाहिए, दुशमन देश के भीतर ही है

डॉ0 जसीम मोहम्मद ऑल इण्डिया रेडियों द्वारा आयोजित वार्षिक सरदार पटेल स्मृति व्याखान माला को सम्बोधित करते हुए देश के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने अपने व्याखान 2030 मे सपनों का भारत में कहा कि बाहर के मुकाबले देश के भीतर ही दुशमनों की तादाद अधिक है जो देश ...

Read More »

महागठबंधन की कोशिश

तेलुगु देसम पार्टी के प्रमुख एवं आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू की ओर से दिल्ली में राहुल गांधी से मेल-मुलाकात के साथ ही एक और ऐसा दलकांग्रेस के संग खड़ा हो गया, जो मूलतरू उसके विरोध की उपज था| आम तौर पर जब ऐसा होता है, तब इस जुमले ...

Read More »

कोलंबो में कूटनीतिक साजिश की कोई काट है

पुष्परंजन महिंदा राजपक्षे (एमआर) को उनके शैदाई लार्ड ऑफ द रिंग बोलते हैं| उसकी वजह, उनका अंधविश्वास और ऊंगलियों में धारण की गई अंगूठियां हैं| एमआर ने एक-दो नहीं, आठ अंगूठियां पहन रखी हैं| क्या 26 अक्टूबर को प्रधानमंत्री पद की शपथ के पीछे अंगूठियों में जड़े रत्नों का प्रताप ...

Read More »

कानून बनाकर नहीं हो सकता राम मंदिर का निर्माण

उपेन्द्र प्रसाद अब तो इतना तय हो गया है कि लोकसभा चुनाव के पहले अयोध्या के विवादित स्थल पर राममंदिर का निर्माण शुरू नहीं हो सकता| अब जनवरी महीने में इस विवाद से जुड़े मुकदमे की सुनवाई की रूपरेखा तय की जाएगी| इस मुकदमे में एक से ज्यादा पक्ष हैं ...

Read More »

जीएसटीः नए-नए तरीके खोजे जा रहे

सुशील कुमार सिंह इंग्लैण्ड के दार्शनिक जेरेमी बेंथम ने अभिप्रेरणा के अन्तर्गत स्टिक एण्ड कैरेट थ्योरी को प्रतिबिम्बित किया जिसका एक अर्थ सख्त तरीका तो दूसरा पुचकारना है| इसी सिद्धांत का डगलस मैकग्रेगर ने आगे चलकर एक्स और वाई के रूप में प्रयोग किया| अब इसी तर्ज पर मोदी सरकार ...

Read More »