Tuesday , November 20 2018
Loading...
Breaking News

लेख विचार

जिम्मेदारी से मुंह मोड़ने का नतीजा

डॉ. भरत झुनझुनवाला इन्फ्रास्ट्रक्चर लीजिंग एंड फाइनेंशियल सर्विसेज यानी आईएलएंडएफएस एक विशालकाय कंपनी है| इस कंपनी के मुख्य शेयरधारक भारतीय जीवन बीमा निगम, भारतीय स्टेट बैंक और सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया हैं| ये तीनों ही सरकारी उपक्रम हैं| आईएलएंडएफएस द्वारा बाजार से 91 हजार करोड़ रुपए का भारी-भरकम कर्ज लिया ...

Read More »

बैंकों की सहायता

सरकारी बैंकों की मदद के साथ सुनिश्चित करना जरूरी है कि वे सही तरह चलें! उनके फंसे कर्ज एक सीमा से अधिक न होने पाएं| बैंकों के पुनर्पूंजीकरण की योजना के तहत उन्हें 20 हजार करोड़ रुपए और देने की तैयारी यही याद दिलाती है कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों ...

Read More »

अब अदालत पर संदेह का सबब?

शीतला सिंह इधर विश्व हिन्दू परिषद के नेता से लेकर कार्यकर्ता तक अपने बयानों व कार्यक्रमों में एक ही राग अलाप रहे हैं कि नरेन्द्र मोदी सरकार को कानून बनाकर या अध्यादेश लाकर अयोध्या में वहीं राममंदिर बनाने का रास्ता साफ कर देना चाहिए| वे यह भी कह रहे हैं ...

Read More »

कश्मीरः कराहट और बातें न सुनने की मूर्खता

कुमार प्रशांत नवंबर के पहले सप्ताह की पहली सुबह| श्रीनगर में अचानक ही बारिश हो रही है – ठंडा मौसम ठिठुरने की तरफ  मुंह करने लगा है| कोई चिंतित स्वर में बताता है कि मैदान में जब बारिश होती है तो पहाड़ पर बर्फ गिरती है| फिर सारा मौसम बंद ...

Read More »

चुनावी हार को जीत में बदलने की तरकीबें

ललित सुरजन इतना तो तय है कि जब भी चुनाव होंगे, एक किसी उम्मीदवार की जीत होगी और बाकी जितने, एक या अधिक, हों, हार का सामना करेंगे| अधिकतर अवसरों पर मतदाता जिसके पक्ष में राय बना लेते हैं, वही प्रत्याशी या दल जीतता है| लेकिन देखने में ऐसा आता ...

Read More »

सवाल रोटी, कपड़े और मकान का है

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस बार भी दीपावली पर अयोध्या पहुंचे| मंगलवार को अयोध्या में दीपोत्सव कार्यक्रम के दौरान उन्होंने फैजाबाद जिले का नाम बदलकर अयोध्या किए जाने की घोषणा की| इसके अलावा छोटी दिवाली पर भव्य दीपोत्सव कार्यक्रम के दौरान अयोध्या को कई और सौगातें दीं| अयोध्या ...

Read More »

मुद्दों से भटकती भाजपा और गलत दिशा में रणनीतिकार

प्रेम शर्मा कर्नाटक उप चुनाव के बाद भले ही भाजपा प्रतिक्रिया कुछ दे रही हो लेकिन संकेत ठीक नही है| नोट बंदी, बेरोजगारी, किसानों की अनदेखी जैसे तमाम अहम मुद्दे है जिन पर केन्द्र सरकार अपने वायदे और संकल्प से कोसों दूर है| 2014 के लोकसभा चुनाव के बाद से ...

Read More »

श्रीलंका के घमासान पर रहे नजर

डॉ. रहीस सिंह किसी भी देश की सुरक्षा, प्रगति में उसके पड़ोसियों की स्थिति, प्रकृति एवं व्यवहार की भी अहम भूमिका हो सकती है| कारण यह है कि वे श्रिंग फेंस(सुरक्षात्मक घेरा) के रूप में भी प्रयुक्त हो सकते हैं, एक अवरोधक दीवार भी बन सकते हैं और किसी दुश्मन ...

Read More »

मातृत्व लाभ हर महिला का अधिकार

ज्यां द्रेज (विजिटिंग प्रोफेसर,रांची विश्वविद्यालय) बच्चों का पोषण, स्वास्थ्य और उनका भविष्य मां के पेट में निर्धारित होता है| अगर मां कुपोषित और बीमार होगी, तो बच्चे भी पीड़ित होंगे| गर्भावस्था के दौरान पोषण, दवा और आराम सब समय पर मिले, यह न केवल महिलाओं के हित की बात है, ...

Read More »

नोटबंदी की दूसरी बरसी पर रिजर्व बैंक की स्वायतत्ता पर चिन्ता

डॉ. हनुमंत यादव 8 नवंबर को कांग्रेस पार्टी ने नोटबंदी की दूसरी बरसी पर पूरे देश भर में रैली व प्रदर्शन करके विरोध दिवस के रूप में मनाया| अन्य विरोधी दलों के नेताओं ने भी इसे काला दिवस की संज्ञा देते हुए विरोध व्यक्त किया| इस अवसर पर पूर्व प्रधानमंत्री ...

Read More »