Wednesday , May 23 2018
Loading...

लेख विचार

कही सन् चैरासी वाली भाजपा न बन जाए कांग्रेस

प्रेम शर्मा सभी को याद होगा कि 1980 में भाजपा संगठन बना और 1984 में 543 लोकसभा में से सिर्फ भाजपा को दो सीटे मिली जबकि कांग्रेस 401 पर विजयी हुई थी| अब स्थिति ठीक विपरीत बनती जा रही है| राहुल गांधी के बचकाने पन बयान, संगठन के नेताओं की ...

Read More »

राजनीतिक बिसात पर एमबीसी

नवीन जोशी दलित और पिछड़ी जातियों को आरक्षण का लाभ वास्तव में कितना मिला और किसे-किसे, यह शुरू से विवाद का विषय रहा है| कालांतर में यह तथ्य सामने आता गया कि दलितों-पिछड़ों में कुछ गिनी-चुनी, करीब एक तिहाई जातियों को ही आरक्षण का सर्वाधिक लाभ मिला| आरक्षित श्रेणी की ...

Read More »

बंगाल में लोकतंत्र का मखौल

प्रसेनजीत बोस पश्चिम बंगाल का मौजूदा पंचायत चुनाव पूरी तरह से लोकतंत्र के साथ घटिया मजाक है| फिलहाल राज्य में पंचायत के पदों की संख्या करीब 48 हजार है| साल 1978 से हर पांच वर्ष पर राज्य में पंचायत के चुनाव हो रहे हैं| उस समय से दो बार- 2003 ...

Read More »

चुनाव पूर्व जनमत सर्वेक्षण पर प्रतिबंध लगे

उपेन्द्र प्रसाद कर्नाटक चुनाव में एक नया ट्रेंड देखने को मिला है| वह एक्जिट पोल से संबंधित है| एक अंग्रेजी न्यूज चैनल ने एक साथ दो- दो एक्जिट पोल दिखाए| एक एक्जिट पोल में भारतीय जनता पार्टी को 120 सीटें पाने की भविष्यवाणी कर उसकी सरकार बनवा दी, तो दूसरे ...

Read More »

अत्यंत अहम है परिवार प्रणाली

एम वेंकैया नायडू, उपराष्ट्रपति    यदि परंपरागत भारतीय समाज के केंद्र में कोई एक योजक शक्ति, इकलौता ऐसा सामर्थ्यवान तंतु है, जो सदियों से हमारी विविधताभरी, समृद्ध सामाजिक संरचना को एक वितान में बुनता आया है, तो वह हमारी परिवार प्रणाली ही है| प्राचीन काल से ही भारतीय समाज में ...

Read More »

मोदी ‘‘झमाझम’’ और राहुल ‘‘पीपीएम’’

प्रेम शर्मा कर्नाटक में जादूगर नरेन्द्र मोदी का मैजिक कायम रहा| यह इस बाॅत का संकेत है कि नरेन्द्र मोदी की देश में लोकप्रियता उस पड़ाव पर पहुंच चुकी है जिसके बाद कोई उम्मीद रह ही नही जाती| कर्नाटक चुनाव के बाद मोदी झमाझम के नारे लगे रहे है| जबकि ...

Read More »

परमाणु परीक्षण का हासिल

आकार पटेल वर्ष 1998 की 11 और 13 मई को राजस्थान के पोखरण में भारत ने पांच परमाणु परीक्षण किये थे| यह 24 वर्ष पूर्व 1974 में पोखरण में ही हुए परमाणु परीक्षण के बाद हुआ था| इंदिरा गांधी ने परीक्षण कर उन नियमों का उल्लंघन किया था, जिनके तहत ...

Read More »

जिंदा रहना है तो इस ओर सोचिए, वरना…

जय प्रकाश पाण्डेय दुनिया के सबसे प्रदूषित शहरों की सूची जारी करते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चेतावनी दी है कि खतरा अब समूची मानव सभ्यता पर है, और हमें इससे निबटने के लिए युद्ध स्तर पर काम करने की जरूरत है| भारत के लिए यह रिपोर्ट इसलिए और भी ...

Read More »

सेना के हाथ में अप्रत्यक्ष ‘‘हथकड़ी’’ ठीक नही

प्रेम शर्मा आतंकी का कोई धर्म नही होता| ऐसे में धर्म के नाम पर रमजान के मौके पर संघर्ष विराम की घटना के बाद दो आतंक हमले होना इस बाॅत का प्रमाण है कि केन्द्र सरकार ने दूसरों को खुश करने लिए देश की सेना के हाथों पर अप्रत्यक्ष हथकड़ी ...

Read More »

ग्राम स्वराज पर पुनः चिंतन

मनींद्र नाथ ठाकुर वर्तमान सरकार ने ग्रामीण विकास के लिए एक नया प्रयास किया था| सांसदों को एक-एक गांव गोद लेने की सलाह दी गयी थी| उनसे कहा गया था कि इस गांव को विकास का प्रतिमान बनाया जाये| लेकिन, आखिरकार यह भी जुमला ही प्रतीत हो रहा है| पिछली ...

Read More »