Loading...
Breaking News

लेख विचार

राफेल सौदाः सवाल तो उठेंगे ही

लोकसभा और राज्यसभा में बुधवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कुल मिलाकर दो-सवा दो घंटे का भाषण दिया| इतिहास से लेकर वर्तमान तक कांग्रेस को हर बात का दोषी ठहराया| बंटवारा, आपातकाल, दंगे, भ्रष्टाचार सबका जिक्र किया| बोफोर्स की बात भी की, लेकिन फ्रांस से लड़ाकू विमान रफाल के सौदे ...

Read More »

सीपीएम में बहसः कोई बूझे कि मुद्दा क्या है?

राजेंद्र शर्मा देश की सबसे बड़ी कम्युनिस्ट पार्टी, सीपीएम में इस समय एक तीखी बहस छिड़ी हुई है| इस बहस में केंद्रीय सवाल यह है कि आज देश में सत्ता पर काबिज, भाजपा-आरएसएस जोड़ी का मुकाबला करने के लिए, सबसे उपयुक्त कार्यनीति क्या है? बेशक, यह बहस सिर्फ सीपीएम तथा ...

Read More »

पकौड़े सा तला जा रहा समाज

चिन्मय मिश्र पिछले दिनों अखबार में एक खबर छपी कि, मृत भाई की नौकरी पाने को भाभी व भतीजों की हत्या| यह घटना पश्चिम बंगाल के कलिम्पांग जिले के जलढाका थाना क्षेत्र में स्थित एक चाय बागान की है| भाई की मृत्यु के बाद छोटा भाई उसकी जगह नौकरी पाना ...

Read More »

कश्मीर में अग्नि परीक्षा

तरुण विजय जम्मू-कश्मीर के राजौरी सेक्टर में कार्यरत कैप्टन कपिल कुंडु अभी अपना तेइसवां जन्मदिन मनानेवाले थे कि गत रविवार राजौरी-पुंछ क्षेत्र में वे पाकिस्तानी गोलीबारी में शहीद हो गये| उनकी पूज्य मां सुनीता कुंडु ने आंसू पोंछते हुए कहा कि यदि उनके दूसरा बेटा भी होता, तो वे उसे ...

Read More »

ऑनरेरी डिग्री की गरिमा

डॉ गौहर रजा किसी शख्स को उसके उत्कृष्ट काम या समाज में बेहतरीन योगदान देने के लिए ऑनरेरी डिग्री (मानद उपाधि) दी जाती है| यह एक तरह से अकादमिक सम्मान है| मानद उपाधि देने की शुरुआत पंद्रहवीं शताब्दी में ऑक्सफोर्ड यूनवर्सिटी से हुई| उस जमाने में यह उपाधि या तो ...

Read More »

आसियान देशों के साथ दोस्ती-2

इस साल गणतंत्र दिवस पर मोदी सरकार ने एक ओर जहां आसियान देशों के राज्य प्रमुखों को आमंत्रित किया वहीं इन देशों के एक-एक अग्रणी व्यक्ति को पद्म पुरस्कार से भी सम्मानित किया| यह भी अपने आप में एक नई पहल थी| इस सम्मानित जनों में एक को मैं कुछ-कुछ ...

Read More »

वित्तीय घाटा बढ़ने दीजिए

डॉ. भरत झुनझुनवाला वित्त मंत्री ने आगामी वर्ष के बजट में वित्तीय घाटे पर नियंत्रण रखने का क्रम जारी रखा है| वर्ष 2013-14 में सरकार का वित्तीय घाटा देश की आय का 4|5 प्रतिशत था| चालू वर्ष 2017-2018 में यह 3|5 रह गया है| आगामी वर्ष में इसे और घटा ...

Read More »

जेटलीजी तो खेल कर गये

प्रो योगेंद्र यादव ‘बधाई हो, आपकी मेहनत रंग लायी!’ बजट के अगले दिन एक दोस्त से मिली इस बधाई से मैं हैरान था| ‘किस बात की बधाई?’ मैंने पूछा| ‘अरे, अरुण जेटली ने आपकी मांग मान ली?’ ‘कहां मानी?’ मैं अब भी हैरान था| श्भई आप यही मांग रहे थे ...

Read More »

सुनिश्चित हो खाप की जवाबदेही

जगमती सांगवान अभी कुछ ही दिन पहले देश की सर्वोच्च अदालत ने कहा था कि दो वयस्कों की शादी में कोई भी बाधा नहीं बन सकता| ऑनर किलिंग पर प्रतिबंध लगाने की मांग वाली एक याचिका पर सुनवाई करते हुए अदालत ने खाप पंचायतों को फटकार लगायी थी कि बालिग ...

Read More »

पद्मावती और अलाउद्दीन खिलजी रू क्या कहता है इतिहास?

राम पुनियानी भारत में जोर इस बात पर है कि मुसलमान बादशाहों को ऐसे शासकों के रूप में दिखाया जाए, जो असभ्य और बर्बर थे और जिनका एकमात्र लक्ष्य तलवार की नोंक पर इस्लाम का विस्तार करना था| जनता से कर वसूलने में सभी धर्मों के राजाओं ने जोर-जबरदस्ती और ...

Read More »